परिवार के 7 लोगों की हत्या की दोषी शबनम की फांसी टली, जानें क्या है इसकी वजह

नईदिल्ली 23 फरवरी 2021. उत्तर प्रदेश के अमरोहा जनपद के बावनखेड़ी नरसंहार की दोषी शबनम की फांसी एक बार फिर से टल गयी है. अमरोहा में जनपद न्यायालय ने अभियोजन से शबनम की रिपोर्ट मांगी थी, लेकिन शबनम के वकील की ओर से राज्यपाल को दया याचिका दाखिल कर दी गई. इसी वजह से शबनम की फांसी को एक बार फिर से टाल दिया गया. मालूम हो फांसी की तारीख तय होने के बाद डेथ वारंट जारी किया जाएगा. प्रक्रिया के अनुसार डेथ वारंट जारी होने के 10 दिनों के अंदर उसको फांसी दे दी जाएगी.

शबनम ने की है सीबीआई जांच की मांग

कुछ दिनों पहले शबनम ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी. जेल में 12 साल के बेटे से मिलने के बाद शबनम खुब रोई थी और खुद को निर्दोष बतायी थी. शबनम ने बेटे ताज से कहा कि वह उसकी परछाई से भी दूर रहे और पढ़-लिखकर अच्छा इंसान बने. दूसरी ओर मां से मिलने के बाद बेटे ताज ने राष्ट्रपति से गुहार लगाया है कि वो फांसी के फैसले को वापस ले लें और उसकी मां की गलती को माफ कर दें. इधर ताज के केयर-टेकर उस्मान ने बताया था कि उसने शबनम से उस घटना के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि वो निर्दोष है और उसे फंसाया गया है.

गौरतलब है कि 14-15 अप्रैल 2008 को रात को शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर अपने ही परिवार के 7 लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी. इस मामले में निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ने दोनों की फांसी की सजा थी. सुप्रीम कोर्ट ने दिसंबर 2020 में दोनों की पुनर्विचार याचिका भी खारिज कर दी थी. उसके बाद राष्ट्रपति ने भी शबनम की दया याचिका को खारिज कर दिया. हालांकि उसके कथित प्रेमी सलीम की दया याचिका अब भी राष्ट्रपति के पास लंबित है. सलीम इस समय नैनी जेल में बंद है.

Spread the love