महिला शिक्षिका को चैंबर में बुलाकर प्राचार्य करता था गंदी हरकत…. DEO से शिकायत के बाद भी नहीं हुआ एक्शन… टीचर ने दर्ज करावाया FIR, तो प्राचार्य ने करा लिया अपना तबादला…..नाराज शिक्षाकर्मियों ने खोला प्राचार्य के खिलाफ

रायपुर 26 नवंबर 2020। एक महिला शिक्षिका ने अपने ही स्कूल के प्राचार्य के खिलाफ अश्लील  टिप्पणी और छेड़छाड करने का मामला दर्ज कराया है। महिला शिक्षिका की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी प्राचार्य के खिलाफ थाने में 354, 3-1 बी के तहत अपराध दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। आरोपी प्रचार्य का नाम बलकरण वर्मा है, जो अरुंधती देवी शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आरंग में पदस्थ है।

दरअसल मामला आरंग थाना क्षेत्र का है, पीड़िता शिक्षिका ने अरुंधती देवी शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आरंग के प्राचार्य बलकरण लाल वर्मा पर छेड़छाड़ सहित कई गंभीर आरोप लगाये है। शिकायत के मुताबिक बीएल वर्मा शिक्षिकाओं के साथ अभद्र व्यवहार और अश्लील टिप्पणियां करते थे। जब शिक्षिकाओं ने इस बात की शिकायत कहीं पर नहीं कि तो उनकी हरकते धीरे-धीरे और बढने लगी थी। आरोपी प्राचार्य अब शिक्षिकाओं के साथ शोषण करने का प्रयास भी करने लगा था। इसी तरह से 16 नवंबर को प्राचार्य ने एक महिला शिक्षिका को अपने चेंबर में बुलाया और फिर छेडछाड करते हुए उससे जबरदस्ती करने का प्रयास करने लगा था। जैसे-तैसे महिला शिक्षिका ने खुद को उसके चंगुल से छुड़ाकर मौके से भाग निकली थी, जिसके बाद इस पूरे घटनाक्रम की शिकायत पीड़िता ने अपने पति और घर वालों को दी। साथ ही अपने स्कूल की शिक्षिकाओं से भी इस मामले की शिकायत की। घटना के बाद सभी शिक्षिकाओं ने मिलकर जिला शिक्षा अधिकारी के पास शिकायत दर्ज करायी थी, लेकिन वहां से भी उन्हें उम्मीद की कोई किरण नजर नहीं आई तो फिर न्याय पाने के लिए महिला शिक्षिकाओं ने आरंग थाने में 25 नवंबर को मामला दर्ज कराया। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने आरोपी प्राचार्य को तत्काल हिरासत में लिया है।
इधर आरोपी प्राचार्य ने मामले से बचने के लिए अनन-फ़नन में अपना स्थानांतरण अन्य शाला में करा लिया। साथ ही एक अन्य महिला प्राचार्य को स्कूल का प्रभार भी दे दिया गया इससे यह भी साफ होता है कि मामले में कहीं न कहीं लीपापोती करने की कोशिश की जा रही थी। फिलहाल इस पूरे मामले में प्राचार्य को हिरासत में लेकर पुलिस आगे की कर्रवाई कर रही है।

वहीं इस पूरे मामले में रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी गेंदराम चंद्राकर ने कहा है कि, ”इस पूरे प्रकरण की शिकायत आई है। फिलहाल अभी ये पूरा प्रकरण कोर्ट में है। इस मामले में विभागीय स्तर पर भी उचित कार्रवाई की जाएगी।”

उच्च अधिकारियों तक पहुंचेगा मामला , संघ ने कहा हम महिला शिक्षाकर्मी के साथ

इधर अब तक इस मामले को दबाने की जहां कोशिश हो रही थी वही परेशान महिला शिक्षाकर्मी ने थाने में मामला दर्ज कराने के बाद शिक्षाकर्मियों के संगठन संविलियन अधिकार मंच से भी इस पूरे मामले में मदद की गुहार लगाई है जिसके बाद संघ ने इस पूरे मामले को लिखित में राज्य सरकार तक पहुंचाने का निर्णय लिया है। संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे ने कहा है कि

” इस पूरे घटना की शिकार महिला शिक्षाकर्मी और वहां के अन्य स्टाफ ने हमें पूरे घटना की जानकारी दी है और उनका कहना है कि प्राचार्य पहले भी ऐसी हरकतें करते थे और द्विअर्थी बातें करते थे लेकिन अब यह शारीरिक शोषण की ओर बढ़ने लगा है , मामले में एफआइआर भी दर्ज हो गया है और हम अब राज्य कार्यालय के अधिकारियों से मिलकर उन्हें पूरे घटनाक्रम की जानकारी देंगे और मामले की निष्पक्ष जांच करके दोषी पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग रखेंगे , हम इस मामले में अपने शिक्षक साथियों के साथ पूरी तरह से खड़े हैं ।”

Spread the love