2 नवंबर से खुलेंगे केंद्रीय स्कूल, जानें क्या रखनी होंगी सावधानी… पढ़ें पूरी जानकारी

नईदिल्ली 20 अक्टूबर 2020. लंबे समय के इंतजार के बाद देश में स्कूलों को फिर से खोलने का सिलसिला शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और नवोदय विद्यालय समिति (NVS) ने भी स्कूलों को फिर से खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केवीएस और एनवीएस 2 नवंबर, 2020 से देश भर में स्कूलों को फिर से खोलने की योजना बना रहे हैं। इसके लिए स्थिति का आकलन करने की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, शुरूआती तौर पर कक्षा 9 से 12 तक के स्टूडेंट्स के लिए फिर से स्कूल खुलेंगे।

गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों में 15 अक्टूबर के बाद स्कूल खोलने की अनुमति दी गई है। हालांकि अभी सिर्फ 9वीं से 12वीं क्लास तक के ही बच्चों को बुलाने की अनुमति है। सरकार ने स्कूलों को खोले जाने के दौरान अपनाए जाने वाले सुरक्षा नियमों का भी ऐलान किया है। उन्होंने बताया कि विद्यालयों में सैनेटाइजर, हैंडवाश, थर्मल स्कैनिंग, इलाज की व्यवस्था, परिसर की साफ-सफाई और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था की बारीकी से पड़ताल की गयी.

केंद्र सरकार के अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों के अनुसार, कक्षा 9 से 12 तक के स्टूडेंट्स के लिए स्वैच्छिक आधार पर स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई थी। जिसके बाद, केवीएस ने 21 सितंबर से स्कूलों को फिर से खोलने का निर्णय लिया था। हालांकि, अभिभावक इसके पक्ष में नहीं थे, जिस कारण से इसे टाल दिया गया था। हालांकि, स्कूलों ने ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन जारी रखा था।

छात्र छात्राओं को हैंडवाश या सैनिटाइजर के इस्तेमाल के बाद ही कैंपस में प्रवेश दिया जाएगा। कैंपस में प्रवेश के समय और छुट्टी के समय मुख्य द्वार पर सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराना होगा। एक साथ सभी छात्र छात्राओं की छुट्टी नहीं की जाएगी। कैंपस में अगर एक से अधिक प्रवेश द्वार हैं तो उनका इस्तेमाल करना होगा जिससे कही भी भीड़ न हो।

गौरतलब है कि गृह मंत्रालय द्वारा जारी अनलॉक 5 गाइडलाइन के तहत, राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को चरणबद्ध तरीके से 15 अक्टूबर, 2020 के बाद स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को फिर से खोलने पर फैसला लेने का अधिकार दिया गया है। हालांकि, महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा फिलहाल स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया जा चुका है। जबकि, कुछ राज्य गृह मंत्रालय द्वारा जारी एसओपी के अनुसार, स्कूलों को फिर से खोल चुके हैं।

Spread the love