ब्रेकिंग : 1 जुलाई से खुलेंगी प्रदेश में स्कूलें, अधिकारियों को दिया गया निर्देश….अब सप्ताह में 6 दिन खुलेंगी दुकानें… खोमचेवालों को भी दुकान खोलने की इजाजत …. मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बैठक …

रायपुर 27 मई 2020। सब कुछ ठीक रहा तो प्रदेश में 1 जुलाई से स्कूल खुल जायेंगे। इस बाबत शिक्षा विभाग को तैयारी के निर्देश दे दिये गये हैं।  कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठ हुई। बैठक के बाद मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि स्कूल खोलने की राज्य सरकार ने 1 जुलाई से तैयारी कर रखी है। इसे लेकर अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है। हालांकि स्कूल खोलने के पहले एक बार फिर से हालात की समीक्षा की जायेगी।

बैठक में कोरोना के मद्देनजर आर्थिक गतिविधियों को संचालित करने, कोरोना को नियंत्रित करने और अन्य जरूरी मुद्दों पर चर्चा की गयी। बैठक के बाद मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि आज बैठक में कोरोना को लेकर समीक्षा की गयी। प्रदेश में अब 6 दिन दुकानें खोली जायेगी। प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को संचालित करने और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने पर रोक लग रहेगी। वहीं खोमचेवालों को भी अब दुकान खोलने की इजाजत रहेगी।

वहीं शादी-ब्याह की अनुमति का अधिकार तहसीलदार को दिया गया है। वहीं कंटेमेंंट एरिया में सख्ती पहले की ही तरह जारी करेगी। मंत्री शिव डहरिया ने क्वारंटीन सेंटर में पेपर में खाना दिये जाने की खबर को गलत बताया है। उन्होंने इसे सरकार की छवि को खराब करने का प्रयास बताया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच का आदेश दे दिया गया है।

बैठक के बाद मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि अभी भी छत्तीसगढ़ में 40 से 50 हजार प्रवासी श्रमिक आएंगे, उनके लिए क्वारंटीन की बेहतर व्यवस्था कैसे हो, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियां कैसे संचालित किया जाये,  स्कूल और कॉलेजों को कैसे प्रारंभ करें, दुकानों को खोलने में किस प्रकार से स्थिति बेहतर हो। उस पर नीतिगत निर्णय लिया गया । हालांकि धार्मिक आयोजन राजनीति आयोजन बंद रहेंगे… शादियों के एप्लीकेशन के लिए सैकड़ों लोग लाइन में खड़े हैं उनके लिए तहसीलदार अनुमति देंगे। एक जुलाई से छत्तीसगढ़ में स्कूल प्रारंभ होगी। कटौती के सवाल पर उन्होंने कहा कि वित्त विभाग से अनुमति लेने के बाद ही विभागों में भर्तियां होंगी। पहले भी स्थिति थी अभी भी वही स्थिति रहेगी का कड़ाई से पालन हो इसकी मॉनिटरिंग होगी

दो साल के बोनस के विषय पर उन्होंने कहा कि  जो केंद्र सरकार किसान सम्मान निधि दे रही है वह इतनी कम है इसके बारे में रमन सिंह पहले बताएं, हम तो लगातार किसानों के लिए कुछ ना कुछ कर रहे हैं

बैठक में बैठक में कृषि मंत्री  रविन्द्र चौबे, गृह मंत्री  ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव, वन मंत्री  मोहम्मद अकबर, सहकारिता मंत्री  प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री अमरजीत सिंह भगत, महिला एवं बाल विकास मंत्री  अनिला भेंड़िया, श्रम मंत्री डाॅ. शिवकुमार डहरिया, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार, मुख्य सचिव  आर.पी. मण्डल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री  सुब्रत साहू, स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह, मुख्यमंत्री सचिवालय में उप सचिव सौम्या चौरसिया सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.