स्कूल-कॉलेज 7 मार्च तक बंद : कोरोना ने मचाया हड़कंप…..स्कूल, कॉलेज व कोचिंग किये गये बंद…. रफ्तार हुई तेज तो कंप्लीट लॉकडाउन का भी होगा आदेश

नागपुर 22 फरवरी 2021। महाराष्‍ट्र के नागपुर शहर में कोविड-19 मामलों की संख्या में अचानक वृद्धि के चलते छात्रों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए शैक्षणिक संस्थान 7 मार्च, 2021 तक बंद रहेंगे. नागपुर में कॉलेज, विश्वविद्यालय, स्कूल, प्रशिक्षण और कोचिंग संस्थान सहित सभी शैक्षणिक संस्थान 7 मार्च तक बंद रहेंगे. बाद में अधिकारी क्षेत्र में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करेंगे और इसी के अनुसार उन्हें फिर से खोलेंगे.

बिजली मंत्री नितिन राउत ने कहा कि शहर में कोविड -19 मामलों की संख्या में अचानक वृद्धि के कारण नागपुर में आंशिक लॉकडाउन क‍िया जा रहा है. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए नागपुर में साप्ताहिक बाजारों को भी 7 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है.

बता दें कि‍ नागपुर में पिछले तीन दिनों में, 2000 लोगों का कोविड -19 टेस्‍ट पॉजिट‍िव आया है. राउत नागपुर के संरक्षक मंत्री हैं, उन्‍होंने क्षेत्र में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए आज एक आपात बैठक की और शहर में प्रतिबंध लगाने का फैसला किया.

मुंबई, पुणे में स्कूल बंद

कोविड-19 मामले के बढ़ने के कारण नागपुर के अलावा पुणे और मुंबई इन दोनों शहरों में भी शैक्षणिक संस्थान बंद क‍िए गए हैं. दोनों क्षेत्रों में स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोलने की कोई तारीख अभी तक अधिकारियों द्वारा जारी नहीं की गई है.

महाराष्ट्र में कोविड -19 मामलों की संख्या बढ़ रही है, जिसके बाद सरकार से प्रतिबंध लगाने और नए दिशानिर्देश जारी करने का आग्रह किया गया है, जिससे राज्य में महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए पालन किया जाए. महाराष्ट्र के कुछ क्षेत्रों में कॉलेज और स्कूल फरवरी 2021 से कोविड -19 लॉकडाउन की गाइडलाइन के साथ फिर से खुल गए हैं. स्कूलों ने केवल 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए आगामी बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए उच्च कक्षाओं को फिर से खोल दिया है.

महाराष्ट्र में एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों ने हाहाकार मचा दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता से नियमों का पालन करने की अपील की है, वरना फिर से लॉकडाउन जैसी स्थिति होने की बात कही है. वहीं कई शहरों में अभी से ही सख्ती बढ़ा दी गई है. जनता के लिए सख्ती फिर से बढ़ रही है, लेकिन दूसरी तरफ कुछ VIP पार्टियों के लिए मिल रही छूट फिर से सवालों के घेरे में है.

Spread the love