स्कूल ब्रेकिंग : प्रमुख सचिव अब जिलों में जाकर करेंगे मॉनिटरिंग…..अफसरों को दौरा कर बच्चों की पढ़ाई के स्तर को परखने के निर्देश….मार्च तक जांच प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश

रायपुर 29 जनवरी 2021। कोरोना काल में स्कूल बंद रहने के बावजूद प्रदेश का शिक्षा विभाग काफी एक्टिव रहा। फिर चाहे ऑनलाइन पढ़ई तुंहर द्वार के जरिये बच्चों को जोड़ने की कवायद हो या फिर मोहल्ला क्लास के जरिये आफलाइन पढ़ाई को जारी रखने की कोशिश। अब शिक्षा विभाग की कोशिश पढ़ाई की क्लोज मॉनिटरिंग की है। SERT के वेबीनार में प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला ने सभी अधिकारियों को बच्चों की पढ़ाई के मानिटरिंग के निर्देश दिये हैं। खुद प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला सभी जिलों में जाकर पढ़ाई के स्तर की मानिटरिंग करेंगे।

प्रमुख सचिव ने कहा है कि बच्चों को रोचक शिक्षा के जरिये पढ़ाई की ज्यादा से ज्यादा कोशिश होनी चाहिये। ये रोचकता आसपास की सामिग्रियों के जरिये भी लायी जा सकती है। प्रमुख सचिव ने कहा कि अधिकारियों को दो टूक कहा कि बच्चों को पढ़ना, लिखना व गणित के सवाल हल करना आना चाहिये। इसकी मानिटरिंग का काम मार्च तक पूर्ण कर लेना है।प्रमुख सचिव डाॅ. आलोक शुक्ला ने कहा कि वे अब पुनः 28 जिलों का स्वयं दौरा करेंगे। उन्होंने राज्य स्तर, जिला, ब्लाॅक व संकुल स्तरीय अधिकारियों को सघन मानीटरिंग के निर्देश दिए।

समग्र शिक्षा के मिशन संचालक एवं संचालक लोक शिक्षण जितेन्द्र शुक्ला ने बच्चों के स्तर तक सोच कर कार्य करने व सरल रूप से समझाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने आगे कहा कि बच्चों में मूलभूत बुनियादी दक्षता होती है, वह बच्चें समझ सके। साथ ही अब चिंतन करने की आवश्यकता इस बात पर है कि हम बच्चों को नए शिक्षा सत्र में किस प्रकार से आगे की कक्षाओं में जोडेंगे कि उनको उस कक्षा के अनुरूप लर्निंग आउटकम प्राप्त हो सके ।
इस कार्यक्रम में एससीईआरटी के संचालक डी राहुल वेंकट उपचारात्मक शिक्षण पर विस्तृत दिशा निर्देश राज्य के शिक्षकों को दिए। कोविड-19 जैसे विषम परिस्थिति में सभी शिक्षकों के सफलतापूर्वक उपलब्धि एवं प्रयास की सराहना की।

Spread the love