comscore

MLA बृहस्पति के आदिवासी बयान पर बवाल : भाजपा ने फूंका पुतला,.सर्व आदिवासी समाज ने दिया अल्टीमेटम.. केंद्रीय मंत्री रेणुका ने की आलोचना तो नेताम ने किया तंज- छलनी में 36 छेद..

अंबिकापुर,4 अगस्त 2021। विधायक बृहस्पति सिंह के द्वारा मीडियाकर्मी के सवाल के जवाब में नाराज़ होकर की गई टिप्पणी-
”आप पत्रकार हैं बुद्धिजीवी हैं पढ़े लिखे हैं और हमारे सरगुजा के अंगूठा छाप आदिवासी की तरह प्रश्न पूछना उचित नहीं समझता हूँ..”
पर बवेला खड़ा हो गया है। भारतीय जनता पार्टी और उसके आदिवासी प्रकोष्ठ ने इस बयान को आदिवासी अस्मिता का अपमान बताते हुए पुतला फूंक दिया। भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा ने इस मामले में पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप FIR करने की माँग की है।

 

दिल्ली से केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने बयान जारी कर विधायक बृहस्पति सिंह के कथन को आदिवासी ग़ौरव और अस्मिता पर कुठाराघात करार दिया है।वहीं राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम ने बयान की आलोचना करते हुए तंज किया है -मेरे को नहीं मालूम था मेरे द्वारा विधायक को मानहानि की चेतावनी देने के बाद से उनका मानसिक संतुलन वास्तव में और बिगड़ जाएगा.. यह तो वही बात हुई जिस छलनी में 36 छेद, वो क्या करेगा बात-विभेद”
इस सियासती घमासान में भाजपा के हाथ मुद्दा आ गया है, लेकिन गंभीर एक आवाज़ जिसमें चेतावनी शामिल हैं वह सर्व आदिवासी समाज की ओर से आई है। सर्व आदिवासी समाज के संभागीय अध्यक्ष अनूप टोप्पो ने बयान जारी कर कहा है –
”आगामी 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर कार्यक्रम के दौरान सर्व आदिवासी समाज ज़िला और ब्लॉक लेव्हल पर निंदा प्रस्ताव पारित करेगा और यदि विधायक सार्वजनिक रुप से समाज से माफ़ी नहीं माँगते हैं तो युवा इकाई पूरे संभाग में पुतला दहन करेगी”

प्रदर्शनकारी जलते पुतले की बेइज्जती के लिए लात मार रहे थे, और विडम्बना ये थी कि पुलिस जलते पुतले को बेइज्जती से बचाने और आग बुझाने के लिये भी लात ही मार रही थी। मौके पर यह दुर्योग भी चर्चा का विषय रहा।

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!