आरपी सिंह ने पूर्व की भाजपा सरकार पर साधा निशाना….कहा- युवाओं के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाना करें बंद…..2016 में सीएम हाउस के बाहर आत्मदाह करने वाले योगेश साहू के अस्पताल का बिल भी नहीं किया था रमन सरकार ने भुगतान

रायपुर 3 जुलाई 2020। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आरपी सिंह ने एक बयान जारी कर भारतीय जनता पार्टी को यह समझाइश दी है कि युवाओं के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाना और राजनीतिक रोटी सेकना बंद कर दे। आरपी सिंह ने कहा है कि डॉ. रमन सिंह की सरकार थी तब बेरोजगारी और हताशा का क्या आलम था? सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनामी की रिपोर्ट कहती है कि सितंबर 2018 में बेरोजगारी की दर छत्तीसगढ़ में 22.2 प्रतिशत थी। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनामी की ताजा रिपोर्ट जो कि अप्रैल 2020 में आई है वह कहती है कि छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर वर्तमान में घटकर 3.4% रह गई है।

उन्होंने कहा कि भाजपा को यह भी नहीं भूलना चाहिए कि डॉ रमन सिंह के कार्यकाल में लगभग 22 लाख पंजीकृत शिक्षित बेरोजगार और लगभग इतने ही अपंजीकृत बेरोजगार थे तब युवाओं के प्रति वो प्रेम कहां छुपा हुआ था जो अब हरदेव सिन्हा के आत्मदाह के प्रयास के बाद उमड़ कर सामने आया है। कांग्रेस प्रवक्ता आर पी सिंह ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आत्मदाह करने वाले बच्चू लाल, योगेश साहू और आत्मदाह का प्रयास करने वाले अन्य 8 लोगों के परिजनों को तत्कालीन सरकार के द्वारा कोई भी मदद नहीं दी गई। दिव्यांग स्वर्गीय योगेश साहू ने अपनी बहनों की शादी गरीबी और बेरोजगारी से व्यथित होकर रमन सिंह को 3 आवेदन दिए थे। लेकिन जब कोई कार्यवाही नहीं हुई और कहीं से कोई मदद नहीं मिली तब निराश होकर योगेश साहू ने तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह के निवास के सामने आत्मदाह कर लिया था। इस घटना के बाद डॉ रमन सिंह का शर्मनाक बयान भी आया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि ऐसी घटनाएं तो होती रहती हैं।

आरपी सिंह ने आरोप लगाया है कि  स्वर्गीय योगेश साहू आत्मदाह प्रकरण का सबसे दुखद पहलू तो यह है कि डॉ रमन सिंह के कार्यकाल में स्वर्गीय साहू के इलाज का भुगतान तक अस्पताल को नहीं हुआ था। राज्य में भूपेश बघेल की सरकार बनने के बाद जब संबंधित अस्पताल ने भुगतान का देयक प्रस्तुत कर अपना भुगतान चाहा तब इस मामले का खुलासा हुआ है। एक दिव्यांग मृतक के इलाज का खर्च तक वहन नहीं कर पाने वाले लोग आज किस मुंह से हरदेव सिन्हा के नाम पर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं?

अगर जरा भी नैतिकता है तो भारतीय जनता पार्टी के लोगों को तुरंत स्वर्गीय योगेश साहू से संबंधित अस्पताल का भुगतान करना चाहिए। अन्यथा भाजयुमो के नेताओं को आगामी 4 तारीख को 4 बजे 4 की संख्या में उपस्थित होकर डॉ रमन सिंह के 4000 पुतले फूकने चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा है कि बहुत जल्द छात्र नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल माननीय मुख्यमंत्री से मिलकर स्वर्गीय योगेश साहू के उपचार का बिल भुगतान करने का आग्रह करेगा।

Spread the love