लाश देख चीख उठी विकास दुबे की पत्नी रिचा, बोली- मैं चलाऊंगी बंदूक… मेरे पति को मार कर तुम सबने ठीक नहीं किया, अब सब मरेंगे….

नईदिल्ली 11 जून 2020। कानपुर में विकास दुबे का पोस्टमॉर्टम होने के बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। इस मौके पर भैरव घाट पर उसकी पत्नी रिचा दुबे, छोटा बेटा और बहनोई दिनेश तिवारी मौजूद थे। लेकिन घाट पर रिचा मीडियाकर्मियों के सवालों पर भड़क गईं। रि‍चा ने आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल भी क‍िया।

मेरे पति को मार कर तुम सबने ठीक नहीं किया। अब मैं खुद चलाऊंगी बंदूक…पति को जिसने मरवाया है, जिसने मारा है…सब मरेंगे। ये शब्द शुक्रवार को भैरवघाट में विकास दुबे के अंतिम संस्कार में पहुंची पत्नी रिचा के हैं। पति की मौत के बाद उसका गुस्सा पुलिस, प्रशासन और मीडिया पर साफ तौर से देखने को मिला।

अंतिम संस्कार के लिए जाते वक्त मीडिया ने उससे अपना पक्ष रखने को कहा। इस बात से वो आक्रोशित हो गई और धमकी दी। वहीं, पुलिस के कहने पर भी विकास के अंतिम संस्कार में उसके माता-पिता ने शामिल होने से इंकार कर दिया। विकास के शव का पोस्टमार्टम कराने के काफी देर बाद तक पुलिस को शव का कोई दावेदार नहीं मिला।

शाम को शिवली से विकास के बहनोई दिनेश तिवारी पोस्टमार्टम वाली जगह पहुंचे और अपनी सुपुर्दगी में शव लिया। यहां से शव को सीधे भैरवघाट स्थित विद्युत शवदाह गृह ले जाया गया। लखनऊ से विकास की पत्नी रिचा, बेटा, मामी व बिकरू से रिश्तेदारी की तीन अन्य महिलाएं पहुंचीं। मीडिया ने रिचा से बिकरू में आठ पुलिस की हत्या के संबंध में सवाल किए तो वह भड़क उठी।

जोर-जोर से चिल्ला कर कहा कि तुम सबने मिलकर मेरे पति को मरवा दिया। जिसने जैसा किया है, उसको वैसा ही परिणाम भुगतने तक की धमकी दी। एसपी पूर्वी राजकुमार ने पुलिसकर्मियों को उसे वहां से ले जाने के निर्देश दिए। करीब आधे घंटे में शव का अंतिम संस्कार कराने के बाद रिचा, बेटे व मामी के साथ तीन कारों से लखनऊ रवाना हो गई, जबकि तीन अन्य महिलाएं भी गांव के लिए निकल गईं।

गौरतलब है कि विकास दुबे की कल सुबह पुलिस एनकाउंटर में मौत हो गयी। पुलिस का कहना है कि उसे कानपुर लाया जा रहा था, उसी दौरान गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया और वह भागने की कोशिश करने लगा। उसने पुलिस से पिस्तौल भी छीन ली थी और फायरिंग किया था, जिसके बाद जवाबी फायरिंग में वह मारा गया।

Spread the love