चुनाव आयुक्त का इस्तीफा : इलेक्शन कमिश्नर अशोक लवासा ने छोड़ा पद…. मुख्य चुनाव आयुक्त बनने के थे दावेदार….अब संभालेंगे ये नयी जिम्मेदारी…मोदी और शाह को लेकर आये थे विवादों में

नयी दिल्ली 18 अगस्त 2020। चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अब अशोक लवासा एशियाई विकास बैंक (एडीबी) में उपाध्यक्ष पद को संभालेंगे। वह एडीबी में दिवाकर गुप्ता का स्थान लेंगे। दिवाकर गुप्ता का कार्यकाल 31 अगस्त को समाप्त होने वाला था। देश के वो दूसरे चुनाव आयुक्त हैं, जिन्होंने समय से पहले ही पद छोड़ दिया है।  आपको बता दें कि लवासा को जनवरी 2018 में चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था।

अशोक लवासा से पहले 1973 में मुख्य निर्वाचन आयुक्त नागेन्द्र सिंह ने तब इस्तीफा दिया था जब उनको अंतरराष्ट्रीय न्यायिक अदालत में जज बनाया गया था. अगर सब कुछ सही रहता तो अशोक लवासा अप्रैल 2021 में मुख्य निर्वाचन आयुक्त बनते और 2022 अक्टूबर तक यूपी, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों में विधानसभा के चुनाव कराते.

लवासा 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान चर्चा में आए थे। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को आचार संहिता के उल्लंघन मामले में क्लीन चीट मिलने का विरोध जताया था। चुनाव के कुछ समय बाद ही लवासा, उनकी पत्नी और उनके बेटे के खिलाफ आयकर विभाग का नोटिस भेजा गया था।1980 बैच के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी लवासा मुख्य चुनाव आयुक्त बनने के दावेदार थे और चुनाव आयोग में उनका कार्यकाल अभी बाकी था। उन्होंने 23 जनवरी, 2018 को भारत के चुनाव आयुक्त के रूप में पदभार संभाला था और उन्हें अक्तूबर 2022 में मुख्य निर्वाचन आयुक्त के रूप में रिटायर होना था।

Spread the love