comscore

राजनांदगांव के कुपोषण अभियान को राष्ट्रीय स्तर पर मिली तारीफ….. पोषण रथयात्रा” को बताया मिसाल, नीति आयोग के ट्वीट को PMO ने भी किया LIKE… पिछले सप्ताह ही कलेक्टर ने रथ को किया था रवाना

राजनांदगांव 28 मार्च 2021। राजनांदगांव में चल रहे पोषण अभियान की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है। नीति आयोग ने ट्वीट कर राजनांदगांव में कुपोषण के खिलाफ चल रहे अभियान की सराहना की है। नीति आयोग के ट्वीट पर पीएमओ ने भी लाईक किया है।

“नीति आयोग ने अपने ट्वीट में लिखा है कि सही पोषण- देश रोशन, नहीं रहे, कहीं कुपोषण। राजनांदगांव कुपोषण के खिलाफ अभियान में एक मिसाल है, जहां पोषण रथ यात्रा का शुभारंभ किया गया है। इसका लक्ष्य बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संतुलित आहार देकर कुपोषण को दूर करना है।”

आपको बता दें कि पिछले सप्ताह की कलेक्टर टीपी वर्मा ने पोषण पखवाड़ा 2021 के अंतर्गत जनसामान्य में बच्चों के पोषण के प्रति जागरूकता लाने के लिए हरी झंडी दिखाकर पोषण रथ को रवाना किया था।।  पोषण रथ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप गढ़बो नवा कुपोषण मुक्त छत्तीसगढ़ के अंतर्गत बच्चों के पौष्टिक आहार तथा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए संदेश दिया गया है।

पौषण रथ में आंख, दांत, मस्तिष्क, पाचन अंग, त्वचा, हड्डियां, मासपेसियां, हृदय, बाल को मजबूत बनाने के लिए आवश्यक विटामिन, प्रोटीन, पोषक तत्वों से संबंधित फल सब्जियों की जानकारी दी गई है। पोषण के सूत्र के लिए यह बताया गया है कि बच्चे के पहले सुनहरे 1000 दिन महत्वपूर्ण होते हैं। पहले 1000 दिनों में तेजी से बच्चे का शारीरिक और मानसिक विकास होता है। गर्भावस्था के 270 दिनों के अंतर्गत शीघ्र पंजीयन, प्रसव पूर्व जांच, आयन फोलिक एसिड, कैलशियम आपूर्ति, टिटनेस के टीके, पौष्टिक आहार, सुरक्षित प्रसव, के संबंध में बताया गया है।

वहीं पहले वर्ष में स्तनपान, कंगारू मदर केयर, टीकाकरण, कृमिनाशन, ऊपरी आहार की जानकारी बताई गई है। इसके अलावा पौष्टिक आहार लेने के साथ ही एनिमिया की रोकथाम, डायरिया का प्रबंधन तथा स्वच्छता और साफ-सफाई के लिए जागरूकता का संदेश दिया गया है। यह जागरूकता रथ सभी विकासखंडों में 10-10 ग्राम पंचायतों में भ्रमण करेगा।

Spread the love