राजस्थान ATS ने जारी किया डिप्टी CM सचिन पायलट को नोटिस.. FIR नंबर 47/2020 में पूछताछ के लिए जारी किया नोटिस

जयपुर,12 जुलाई 2020। सत्ता सिंहासन के डोलने के घटनाक्रम के बीच जबकि डिप्टी CM सचिन पायलट के तावड़ू स्थित नीजि होटल में विधायकों के साथ होने की खबरें हैं। राजस्थान ATS ने नोटिस जारी कर उन्हें क्राईम नंबर 47/2020 में बयान देने के लिए तलब किया है।
विधायकों को पैसा देकर ख़रीद बिक्री किए जाने के मसले में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप जाँच कर रहा है। ACB ने बीते शनिवार तीन निर्दलीय विधायकों जिनमें ओमप्रकाश हुड़ला,सुरेश टाँक और ख़ुशवीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की है।SOG की दलील है कि अवैध हथियार और विस्फोटक सामग्री की तस्करी के मामले में दो नंबर सर्विलांस पर थे, उनसे यह जानकारी मिली कि,राज्यसभा चुनाव के वक्त सरकार गिराने की तैयारी थी, प्रति विधायक पच्चीस करोड़ दिए जाने की क़वायद भी की जा रही थी।जिसके बाद सियासत गर्मा गई।

इस मामले को लेकर एक अन्य सूचना यह बताती है कि डिप्टी सीएम सचिन पायलट को इस नोटिस की जानकारी तो हुई वे नाराज़ हो गए और 12 कांग्रेस विधायक और तीन निर्दलीय विधायकों के साथ दिल्ली कूच कर गए।

बताया गया है कि सचिन पायलट दिल्ली में हाईकमान से मिलने की कोशिशों में है। आँकड़ों के हिसाब से राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस मज़बूत है।सदन के भीतर पायलट गुट के कुल 24 विधायक माने जाते हैं।यदि ये सभी मध्यप्रदेश की तर्ज़ पर इस्तीफ़ा दे दें और निर्दलीय विधायक भी अगर कांग्रेस से समर्थन हटा लें तो मध्य प्रदेश की कहानी दोहराई जा सकती है।
यह दिलचस्प संयोग है कि सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य बेहद करीबी दोस्त माने जाते हैं।

Spread the love