शानदार रहा है रायपुर पुलिस का काम……ड्रग्स माफियाओं की कमर तोड़ी…तो सायबर पुलिस ने आनलाइन ठगों पर शिकंजा कसा…. क्राइम केस को भी शानदार तरीके से सुझलाया

रायपुर 21 नवम्बर 2020। कोरोना काल में अपराध की बढ़ी चुनौती के बीच रायपुर पुलिस ने जबरदस्त काम किया है। खासकर ड्रग्स मामले में जिस तरह से रायपुर पुलिस ने ड्रग्स माफिया के कमर तोड़ने का काम किया है, वो तो बेमिसाल है। ठगी, आईपीएल सट्टा, जुआ व क्राइम मामले को भी सुलझाने में रायपुर पुलिस का काम शानदार रहा है। रायपुर पुलिस बीते 6 महीने में साइबर ठगी के शिकार हुए कई व्यक्तियों के लाखों रुपये भी लौटने में कामयाब रही है।

ये साइबर ठग गिरोह झारखंड, बिहार, दिल्ली, महाराष्ट्र, पश्चिमी बंगाल, हरियाणा व गुजरात जैसे राज्यों से ठगी का ताना बाना बुनते थे। रायपुर पुलिस ने ठगी के एक मामले में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश में एक टीम को पिछले दिनों नाईजीरियन फ्रॉड को पकड़ने के लिए दिल्ली भेजी गया था। इस दौरान कुछ साइबर ठगों को पकड़ने में कामयाबी भी मिली थी।

पकड़े गए ये सायबर ठग सबसे अधिक ठगी की वारदातों को रायपुर के सिटी एरिया में अंजाम देते थे। इस साल एटीएम कार्ड बदलने से लेकर ऑनलाइन शॉपिंग और पिन कोड की जानकारी से लेकर पैसे निकालने के मामले सबसे अधिक हुए हैं। इन मामलों को भी सायबर सेल की टीम ने तत्परता दिखाते हुए जल्द से जल्द सुलझाने में कामयाब रही है। इस साल ठगी के शिकार हुए लोगों को पुलिस ने 13 लाख रिफण्ड करवाया है।

पुलिस ने आरंग लूट, राजधानी के मौदहापारा में हुई 56 लाख की लूट, ब्लाइंड मर्डर के मामलों को 24 घंटो के अंदर सुलझा कर आरोपियों को कड़ी सजा दिलाई है। साथ ही शहर में चल रहे अफीम,चरस और डोडा के व्यापार करने वाले बड़े नेक्सेस को तोड़कर इन मामलों से जुड़े कई नामचीन लोगों को गिरफ्तार करने में भी कामयाब रही है।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.