बाढ़ पीड़ितों के लिए रायगढ़ पुलिस ने चलाया “संवेदना अभियान” …. खुद SP पहुंचे पीड़ितों के द्वार, परेशानी भी सुनी, सहायता का भरोसा भी दिलाया…. ASP अभिषेक ने बांटी ग्रामीणों को राहत सामिग्री

रायगढ़ 9 सितंबर 2020। प्रदेश में पिछले दिनों हुई जोरदार बारिश की वजह से रायगढ़ के कई इलाकों में बाढ़ के हालात पैदा कर दिये थे। खासकर पुसौर, सरिया, सारंगढ़ व कोसीर क्षेत्र के दर्जनों गांव बाढ़ प्रभावित थे। हालांकि प्रशासन ने इस दौरान पूरी मुस्तैदी के साथ काम किया। खुद कई जिलों में आपरेशंस की कमान कलेक्टर भीम सिंह और एसपी संतोष कुमार सिंह ने संभाली। पिछले दिनों प्रभावित क्षेत्रों का दौर कर इऩ अधिकारियों ने राहत के कड़े निर्देश भी दिये थे।

इसी कड़ी में अभ रायगढ़ पुलिस मानवीय पहलू के आधार पर बाढ़ पीडितों के लिये “संवेदना कैंपेन” चलाया । इस कैंपेन के तहत एसपी संतोष कुमार सिंह राहत शिविरों में पहुंचे और पीड़ित लोगों से बातचीत की। प्रभावितों ने चर्चा में कच्चे मकानों को सुधार कराये जाने में मदद की गुहार एसपी से लगायी। एसपी ने आश्वस्त किया कि प्रशासन की ओर से नुकसानी का आंकलन के बाद मुआवजा दिया जायेगा। वहीं रायगढ़ पुलिस द्वारा भी यथासंभव मदद करने की कोशिश करेगी।

पुलिस द्वारा जनसहयोग से बाढ़ पीडितों की मदद के लिये जीवनापयोगी, पुर्नवास के सामानों को एकत्र करने “संवेदना” कैंपेन चलाने का निर्णय लिया गया। कैंपेन अपनी पूरी रफ्तार में था कि इसी बीच एसपी रायगढ़ के कोरोना संक्रमित होने की खबर सामने आयी परन्तु एसपी रायगढ़ व उनकी टीम द्वारा कैंपेन पर इसका कोई असर नहीं  होने दिये । वहीं एसपी श्री संतोष सिंह द्वारा ऑनलाइन सभी अधिकारियों को गाइड करना प्रांरभ किया । रायगढ़ के लोगों व संस्थाओं  द्वारा पूरी दरियादिली से थाना/चौकी में बाढ़ पीडितों में वितरण के लिये आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध कराते रहे, जिससे राहत सामग्रियों का भंडार लग गया ।

ASP अभिषेक वर्मा ने राहत सामिग्री वितरित की

पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देशों पर कार्य करते हुए एडिशनल एसपी  अभिषेक वर्मा द्वारा वितरण सामग्री वितरण के लिये सभी राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को लाइनअप किये । बाढ़ प्रभावितों के नुकसानी का आंकलन थाना प्रभारियों से कराये, किन्हें पुर्नवास सामग्रियों की ज्यादा आवश्यकता है उन्हें चिन्हांकित किया गया और इस प्रकार सूची तैयार की गई ।  कल रात से ही पीकअप, ट्रक के जरिये दूरस्थ थाना क्षेत्र कापू, धरमजयगढ़, लैलूंगा से राहत सामग्री लोड कर थानों के लिये निकली थी । आज सुबह भी कई थानों से राहत सामग्री लेकर वाहन पुसौर, सरिया, सारंगढ़, कोसीर थाना पहुंचे । सुबह से देर शाम तक लोगों को आना प्रारंभ हुआ । कोरोना को देखते हुये आवश्यक सावधानी बरतते हुये एक घंटे में न्यूनतम लोगों को परिसर में आने की अनुमति थी । बाढ़ पीडितों में आवश्यकता अनुसार कंबल, लूंगी, धोती, गमछा,  साड़ी, एलवेस्टर/टिन शेड, तिरपाल, सीमेंट, जूता चप्पल, रेडीमेड कपड़े , बांस, बर्तन , बाल्टी, मग,  गद्दा , चटाई, मच्छरदानी, चादरे साबुन, सर्फ, टॉर्च व राशन सामग्री का वितरण किया गया तथा वाहनों से उनके गांवों तक सामानों को पहुंचाया गया । आज पहले दिन सबसे प्रभावित परिवारों- सरिया के 21 गांव के 217 परिवार, पुसौर  के 13 गांव के 133 परिवार, कोसीर के 09 गांव के 51 परिवार एवं सारंगढ क्षेत्र के 05 गांव 50 परिवारों को राहत सामग्री वितरण हुआ है । अगले कुछ दिनों में हजारों परिवारों तक सामानों का वितरण किया जावेगा । अभी भी कुछ सहयोगकर्ता द्वारा कैम्पेन को सहयोग किया जा रहा है, ऐसे में उन सामग्रियों का वितरण गांव-गांव जाकर पुलिस टीम करेगी ।

ग्रामीणों ने जताया पुलिस का आभार

थाना परिसर में आये बाढ़ पीडितों द्वारा जिस प्रकार हृदय से पुलिसकर्मियों को आभार व्यक्त किया गया वह पुलिसकर्मियों के हृदय को छू गई । ग्राम सिलाड़ी के एक बुजुर्ग बताते है कि “हमर गांव बाढ़ आये रहिस, साहब मन आये रहिन, रायगढ़ ले एसपी साहब मन । ओ मन देखिन हमन ला,  अउ पुसौर थाना बुलाके हमन ला समान देहें, जे-जे समान मांगे रहेन दिन हे।  ग्राम बाराडोली की निशक्त वृद्ध महिला अपनी जबानी बताई कि “हमारा गांव बाराडोली बाढ़ से डूब गया था, तब भी पुलिस बाबू आकर मदद किये थे, आज थाना बुलाकर भी पुलिस बाबू मदद किये हैं, मेरा कोई नहीं है, मुझे सब सामान दिया गया है मैं बहुत खुश हूं ।  इस कैंपेन को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किये सभी रायगढ़ के विभिन्न लोगों व संस्थाओं को रायगढ़ पुलिस की ओर से धन्यवाद दिया गया हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.