रेप वाले बयान पर बोले राहुल गांधी- नहीं मागूंगा माफी, ध्यान भटकाने की हो रही है कोशिश… बयान पर भड़कीं महिला सांसद

नईदिल्ली 13 दिसंबर 2019। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर लोकसभा में शुक्रवार को हंगामा हो गया। झारखंड की रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि हिंदुस्तान बलात्कार की राजधानी बन गया है। शुक्रवार को इसी पर हंगामा हुआ, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत कई महिला सांसदों ने राहुल गांधी से माफी की मांग की। लोकसभा में हंगामा होने के बाद राहुल गाँधी ने कहा कि वे माफी नहीं मांगेंगे। बीजेपी मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए ऐसे पैंतरे अपना रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने दुनिया में भारत की छवि खराब की है। आज अर्थव्यवस्था की बात नहीं होती है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

इससे पहले, लोकसभा में बीजेपी ने राहुल गांधी से रेप वाले बयान पर माफी की मांग की थी। वहीं हंगामा होने के बाद लोकसभा का शीतकालीन सत्र अनिश्चितकाल के लिए खत्म हो गया। उसके बाद राज्यसभा में अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की बलात्कार पर एक कथित टिप्पणी को लेकर शुक्रवार को बीजेपी सदस्यों के हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही को स्थगित कर जब दोबारा शुरू की तो बीजेपी महिला सांसदों का हंगामा जारी रहा। बीजेपी सांसदों की मांग है कि राहुल गांधी माफी मांगे।

स्मृति ईरानी के अलावा केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि राहुल खुलेआम कह रहे हैं कि रेप इन इंडिया, तो क्या वो दुनिया को भारत में आकर बलात्कार करने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं. लोकसभा के अलावा राज्यसभा में भी राहुल गांधी के खिलाफ नारेबाजी हुई, लेकिन राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू ने कहा कि जो सदस्य इस सदन का नहीं है, उसका नाम नहीं लिया जा सकता है.

शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन प्रश्नकाल आरंभ होने के साथ ही भाजपा की कई महिला सदस्य अपने स्थान पर खड़ी हो गईं और राहुल गांधी से माफी की मांग करने लगीं। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि पहली बार किसी नेता ने इस तरह का बयान दिया है। यह भारत की महिलाओं और देश का अपमान है। राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए।

बीजेपी के कई अन्य मंत्रियों और सदस्यों ने भी राहुल गांधी से माफी की मांग की। कांग्रेस सदस्य भी नारेबाजी कर रहे थे और पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी यह शिकायत करते नजर आए कि उन्हें बोलने नहीं दिया जा रहा है। दोनों पक्षों की नारेबाजी के बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदस्यों से सीटों पर जाने और प्रश्नकाल चलाने देने का आग्रह किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.