क्वींस क्लब खतरे में : हाउसिंग बोर्ड के बाद अब कलेक्टर ने भी कसा शिकंजा….7 दिन के भीतर जवाब किया तलब, पूछा….”लॉकडाउन में कैसे खोला क्लब, क्यों बेची दारू”

रायपुर 1 अक्टूबर 2020। रसूक और पैसे की खनक में नियम को ठेंगा दिखा रहा क्वींस क्लब अब बुरी तरह से विवादों में घिर गया है। एक ओर जहां हाउसिंग बोर्ड ने क्वींस क्लब के लीज खत्म करने की तैयारी कर ली है, तो वहीं दूसरी तरफ कलेक्टर ने क्वींस क्लब के लाइसेंस को रद्द करने को लेकर नोटिस जारी कर दिया है। कलेक्टर भारतीदासन ने लाइसेंसी को तलब कर 7 दिन के भीतर जवाब मांगा हां। दरअसल लॉकडाउन के दौरान क्वींस क्लब में ना सिर्फ पार्टियां चल रही थी, बल्कि तमंचे से गोलियां भी दागी जा रही थी। 

कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने 27 सितम्बर की रात्रि में क्वीन्स क्लब (व्यावसायिक क्लब) में जन्मदिन पार्टी आयोजन एवं गोली चलाने की घटना को संज्ञान में लेते हुये लाइसेंसी को क्लब लायसेंस शर्तो के उल्लंघन पर लायसेंस निलबंन/निरस्त हेतु कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया है। उन्होने इस संबंध में लायसेंसी को सात दिवस के भीतर अनिवार्य रूप से जवाब प्रस्तुत करने कहा है।
उल्लेखनीय है कि जिला रायपुर में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रायपुर द्वारा सम्पूर्ण जिले में 21 सितम्बर 2020 की रात्रि 09:00 बजे से 28 सितंम्बर 2020 की रात्रि 12:00 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित कर लॉकडाऊन लगाया गया था। उक्त आदेश के तहत सम्पूर्ण व्यावसायिक गतिविधियों के संचालन को प्रतिबंधित किया गया था साथ ही जिले की समस्त मदिरा दुकानें, समस्त होटल,बार, क्लब को पूर्णतः बंद रखा जाना था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.