पुनिया ने मोदी और गोडसे में बतायी समानता…..तब गोडसे ने पैर छुकर गांधीजी को मार दी थी गोली…और अब मोदी संसद और संविधान में सर झुकाकर…….

रायपुर 13 फरवरी 2020। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने प्रधानमंत्री मोदी की तुलना नाथूराम गोडसे से की है। कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत में पुनिया ने मोदी और गोडसे में समानता बताते हुए कहा कि जिस तरह गोडसे ने गोली मारने से पहले महात्मा गांधी के पैर छुए थे, उसी तरह मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद सदन और संविधान पर माथा टेका था। कांग्रेस में महत्वपूर्ण बैठक में भाग लेने पहुंचे पुनिया ने कहा कि प्रधानमंत्री और सरकार संविधान पर हमला कर रही है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

पुनिया ने कहा कि मोदी ने 2019 में संविधान पर माथा टेका था और 2014 में जब संसद में पहली बार आये थे तो सदन की सीढ़ी पर माथा टेका था। सदन में माथा झुकाकर जाने के बाद उन्होंने सदन में किस तरह का काम किया, ये सबने देखा है। उन्होंने कहा कि एसटी, एससी और ओबीसी के अधिकारों पर खुलेआम हमला हो रहा है।

पुनिया ने कहा कि एससी-एसटी पदोन्नति में आरक्षण के मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ कांग्रेस पुनर्विचार याचिका दायर करेगी। कांग्रेस ने इस मामले में संसद में कानून बनाने की मांग की है।

गैरबराबरी खत्म होने तक आरक्षण की व्यवस्था की गई थी, लेकिन अब तक समाज में गैरबराबथी खत्म नहीं हुई। फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे, लेकिन हमने मांग की है कि इसके लिए कानून लाया जाना चाहिए।

आरक्षण के मामले पर कांग्रेस अपना पक्ष प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से रख रही है। अब जिलों में भी पक्ष रखा जाएगा। छत्तीसगढ़ इस मामले में सौभाग्यशाली है कि यहां एट्रोसिटी की कोई घटनाएं नहीं होतीं। आरएसएस और भाजपा लगातार आरक्षण के विरोध में बयान देती रही है, लगातार विरोध करती रही है।

बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी इन दिनों अपने-अपने प्रभार वाले प्रदेशों में 12 से 14 फरवरी के बीच आरक्षण को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.