छत्तीसगढ़ भवन की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की तारीफ, विजिटर बुक में लिखा…भवन में ठहरने का अनुभव सुखद रहा, सीएस मंडल ने बनवाया है छत्तीसगढ़ भवन को

NPG.NEWS
बिलासपुर, 2 मार्च 2020। छत्तीसगढ़ भवन देश की राजधानी दिल्ली में ही नहीं बल्कि बिलासपुर में भी है। राज्य निर्माण के दो साल बाद बिलासपुर के कलेक्टर रहने के दौरान आरपी मंडल ने इसे बनवाया था। इसमें तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी भी दो रात गुजार चुके हैं।


बिलासपुर प्रवास में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी छत्तीसगढ़ भवन में ठहरे हैं। उन्होंने आज विजिटर बुक में लिखा है…..छत्तीसगढ़ भवन में ठहरने का अनुभव सुखद रहा, छत्तीसगढ़ सरकार और इस भवन से जुड़े सभी लोगों की सेवा भावना और सत्कार का मैं सराहना करता हूं। राष्ट्रपति ने बिलासपुर कलेक्टर डॉ0 संजय अलंग को इसके लिए परसनली एप्रीसियेट किया।
बिलासपुर के नेहरु चौक पर स्थित छत्तीसगढ़ भवन राज्य बनने से पहिले टपरा टाईप रेस्ट हाउस था। जिसमें जुआड़ियों और शराबियों का अड्डा चलता था। असल में, सर्किट हाउस अलग था, इसलिए न तो इसमें कोई वीआईपी रुकता था और न ही कोई अफसर।
2001 में आरपी मंडल जब बिलासपुर के कलेक्टर बनकर आए तो उनकी नजर इस पर पड़ी जो लोकेशन के हिसाब से बेस्ट था, मगर खंडहर जैसा बन गया था। मंडल ने इसका जीर्णांद्धार कराकर रेस्ट हाउस का कायाकल्प कर दिया। उन्होंने ही इसका नाम छत्तीसगढ़ भवन रखा। छत्तीसगढ़ भवन का लुक और सुविधाएं ऐसी बदल गई कि वीवीआईपी सर्किट हाउस में रुकना बंद कर दिए। सीएम का इसमें उन्होंने बड़ा सा सुइट भी बनवाया। बिलासपुर विजिट में आने वाले वीवीआईपी इसी सुइट में रुकते हैं।
बिलासपुर कलेक्टर संजय अलंग ने इसे मेंटेन भी करके रखा है। राष्ट्रपति के आने के पहले उन्होंने इसका पूरा रंग-रोगन करवाया।

Spread the love