पारेषण प्रणाली को सुदृढ़ बनाने 121 ईएचटी उपकेन्द संचालित कोतमीकला उपकेन्द्र में 40 एम.व्ही.ए का पाॅवर ट्रांसफार्मर क्रियाशील

खराब मौसम से जूझते कर्मियों ने स्थापित किया विशालकाय ट्रांसफार्मर – एमडी कुमार

रायपुर 15 अक्टूबर 2020 – छत्तीसगढ़ स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनीज के अधिकारियों- कर्मचारियों की टीम द्वारा प्रदेश की पारेषण प्रणाली को सुदृढ़ बनाने के लिए 121 अतिउच्चदाब उपकेन्द्रों का संचालन किया जा रहा है। करीब छह माह से कोविड 19 की महामारी से जूझते हुए भी विद्युत कर्मियों ने सुदूर ग्रामीण तक समुचित वोल्टेज पर बिजली पहुंचानेे पारेषण प्रणाली के विस्तार कार्य की गति को बनाये रखा है। पारेषण क्षेत्र में प्रगति करते हुए आज 220/132/33 के.व्ही. उपकेन्द्र कोतमीकला में 40 एम.व्ही.ए. क्षमता के पाॅवर  ट्रांसफार्मर को स्थापित कर क्रियाशील करने में बड़ी कामयाबी पारेषण कंपनी की टीम को मिली। उक्त जानकारी प्रबंध निदेशक अशोक कुमार ने दी।
आगे उन्होंने बताया कि ईसीई द्वारा निर्मित उक्त पाॅवर ट्रांसफार्मर को खराब मौसम, तेज बारिश के मध्य प्रतिकूल परिस्थितियों में ट्रांसमिशन-डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की एक्सपर्ट टेक्नीकल टीम ने स्थापित किया। विदित हो कि कोतमीकला उपकेन्द्र में स्थापित लगभग 36 साल पुराना 20 एम.व्ही.ए क्षमता का पाॅवर ट्रांसफार्मर के फेल हो जाने के कारण उसके स्थान पर 40 एम.व्ही.ए. क्षमता का नया ट्रांसफार्मर स्थापित कर क्रियाशील किया गया। नव क्रियाशील ट्रांसफार्मर के माध्यम से समुचित भार पर उपभोक्ताओं तक बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित होगी एवं लोड मैनेजमंेट की दृष्टि से भी यह अत्यंत कारगर होगा।
उक्त भारी भरकम पाॅवर ट्रांसफार्मर की स्थापना-क्रियाशील कार्य में जुटे टीम को श्री कुमार ने बधाई दी। साथ ही प्रदेश की पारेषण प्रणाली को सुदृढ़ बनाने के लिए युद्धस्तर पर किये जा रहे कार्यों को कोरोना काल में भी समयसीमा में पूर्ण करने के लिए पे्ररित किया। उन्होंने बताया कि ‘‘क्वालिटी पाॅवर सप्लाई‘‘ सुनिश्चित करने हेतु ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा सुदूर वनाचंलों तक 12 हजार 804 सर्किट किलोमीटर अति उच्च दाब लाईन का विस्तार किया गया है। साथ ही साथ पारेषण प्रणालियों की सुरक्षा हेतु 1085 एम.वी.ए क्षमता के कैपेसिटर संचालित किए जा रहे हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.