निगम के दूषित जल से पीलिया के प्रकोप का नया संकट खड़ा हुआ : भाजपा

 

महापौर सस्ती राजनीति करना छोड़ साफ व शुद्ध पेयजल मुहैया करा राजधानी को पीलिया मुक्त करें : दुवा

रायपुर 25 अप्रैल 2020 । भारतीय जनता पार्टी के रायपुर जिला भाजपा उपाध्यक्ष सत्यम दुवा ने राजधानी में इन दिनों कोरोना वायरस संक्रमण के साथ-साथ पीलिया के मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे पर गहरी चिंता जताई है।  दुवा ने कहा कि राजधानी में खतरनाक स्तर पर पहुँच चुके पीलिया का कहर गरीबों को दोहरी मार दे रहा है । नगर निगम, शासन-प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग को इसे गंभीरता से लेना चाहिए।
भाजपा जिला उपाध्यक्ष श्री दुवा ने कहा कि राजधानी के विभिन्न इलाकों में पीलिया के लगभग 18सौ मरीजों का मिलना बेहद गंभीर मामला है जिनमें से 519 मरीजों में बिलीरुबिन का अधिक मात्रा में पाया जाना और 317 मरीजों में अलग-अलग प्रकार के हेपेटाइटिस के लक्षण मिलने की सूचना है जो चिंता का विषय है। श्री दुवा ने आरोप लगाया कि राजधानी के अमूमन सभी इलाकों में नगर निगम द्वारा दूषित पेयजल की आपूर्ति किए जाने से कोरोना संकट के दौर में पीलिया के प्रकोप का यह एक नया संकट खड़ा हो गया है। अब तो पीलिया के मरीज हेपेटाइटिस के शिकार हो रहे हैं। श्री दुवा ने कहा कि पहले तो पीलिया के प्रकोप पर ठेले-खोमचों वालों के दूषित खानपान पर ठीकरा फोड़ कर निगम व स्वास्थ्य महकमा अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेता था, लेकिन इस वर्ष तो लॉकडाऊन के चलते लोग बाहरी खानपान कर ही नहीं पा रहे हैं। नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त बैठक में नगर निगम के पानी में ई-कोलाई और दूसरे अन्य बैक्टीरिया पाए जाने की बात सामने आने से यह स्पष्ट हो जाता है कि नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर अपनी जिम्मेदारी से मुँह चुरा रहे हैं और राजधानीवासियों को साफ पानी तक मुहैया करा पाने में फिसड्‍डी साबित हो रहे हैं।
भाजपा जिला उपाध्यक्ष श्री दुवा ने कहा कि कोरोना संकट के चलते जारी लॉकडाऊन में प्रभावित व जरूरतमंद परिवारों की सहायता सामग्री के भंडारण और वितरण के तौर-तरीकों को लेकर महापौर ढेबर के रवैए पर सवाल उठते रहे हैं। अब जबकि राजधानी पीलिया के गहराते संकट से जूझ रही है, तब महापौर को कोरोना को लेकर श्रेय बटोरने की सस्ती राजनीति का मोह त्यागकर राजधानी को पीलिया मुक्त करने और लोगों को एकदम साफ व शुद्ध पेयजल मुहैया कराने की दिशा में अपनी उस जिम्मेदारी का ईमानदारी से निर्वहन करना चाहिए, जिसके लिए वे महापौर पद पर बैठे हैं। श्री दुवा ने कहा कि पीलिया की रोकथाम के लिए अगर जल्दी ही कोई कारगर कदम उठाकर पहल नहीं की गई तो आने वाले दिनों में स्थिति और भयावह होगी और कोरोना संक्रमण से ज्यादा पीलिया राजधानी का संकट बढ़ाएगा। श्री दुवा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्यमंत्री टीएस सिंहदेव और स्थानीय निकाय मंत्री शिव डहरिया से भी इस संकट की गंभीरता को देखते हुए कारगर पहल करने की मांग की है।

Spread the love