npg
राजनीति

पद नहीं पार्टी के लिए काम करो: मोर्चा के पदाधिकारियों को भाजपा प्रभारी का मंत्र – पद पूर्व हो जाता है, कार्यकर्ता स्थाई

पद नहीं पार्टी के लिए काम करो: मोर्चा के पदाधिकारियों को भाजपा प्रभारी का मंत्र – पद पूर्व हो जाता है, कार्यकर्ता स्थाई
X

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नए भाजपा प्रभारी ओमप्रकाश माथुर ने सभी मोर्चा के पदाधिकारियों से दो टूक कह दिया कि वे पद नहीं, पार्टी के लिए काम करें। मुझे ये पद मिल जाए, मेरा ध्यान रखना, ऐसी बातें भूल जाएं। कोई किसी का ध्यान नहीं रखेगा। हम सब पार्टी का ध्यान रखने के लिए हैं। पद पूर्व हो जाता है, लेकिन कार्यकर्ता स्थाई है। कोई भी कार्यकर्ता ये न सोचे कि उसकी ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा। जो मेहनत करेंगे, उनकी ओर पार्टी का ध्यान होता है। अखबार में छपने के लिए काम न करें। अखबार में छपने के बाद एक दिन तारीफ होती है, लेकिन दूसरे दिन अखबार में आपकी फोटो पर कोई पकौड़े रखकर खाता मिलेगा।


कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में सभी 7 मोर्चा के करीब ढाई सौ पदाधिकारियों से चर्चा करते हुए माथुर ने कहा कि मोर्चा सबसे उर्वरक है। जहां जितनी उर्वरक क्षमता होती है, वहां उतनी पैदावार भी होती है। हर मोर्चा और उसके पदाधिकारी का काम है कि वे अपने वर्ग तक जाए और यह कोशिश करे कि उस वर्ग का 100 प्रतिशत वोट भाजपा को मिले। एसटी, एससी, ओबीसी, अल्पसंख्यक सभी मोर्चा को समाज के लोगों को जोड़ने के लिए मेहनत करनी चाहिए। समाज के सभी वर्गों से जीवंत संपर्क होना चाहिए। सिर्फ धरना-प्रदर्शन और आंदोलन मायने नहीं रखता, बल्कि धरातल पर उतरकर काम करना होगा और हर वर्ग तक पहुंचना होगा। इस दौरान क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल, प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय भी मौजूद थे।


क्या-क्या किया नहीं, क्या करेंगे यह बताओ

मोर्चा के पदाधिकारियों से संवाद की शुरुआत माथुर ने वृत्त (रिपोर्ट) लेने से किया। सभी मोर्चा के पदाधिकारी यह बताने लगे कि उनकी ओर से बैठक का आयोजन किया गया। इतनी कार्यसमिति हुई। इसमें ये-ये आए और इतनी संख्या में कार्यकर्ता थे। जब सभी बोल लिए तो उन्होंने कहा कि सारे लोगों ने यह बताया कि क्या-क्या किया? यह नहीं बताया कि क्या-क्या करेंगे। सबको यह कार्ययोजना बनानी चाहिए कि वे किस तरह बूथ और शक्ति केंद्र के स्तर पर संगठन तैयार करेंगे। माथुर ने कहा कि अगली बार जब आएंगे तब जरूरत पड़ेगी तो हर मोर्चा की अलग-अलग बैठक लेंगे।


बैठक निर्धारित समय पर करीब 11.30 बजे शुरू हुई। दो घंटे में खत्म हुई।

Next Story