मरवाही पर सियासी गदर शुरू : अजीत जोगी के विधायक प्रतिनिधि के कांग्रेस में शामिल होने पर आया सियासी भूचाल… मरवाही के कई नेताओं ने दी इस्तीफे की धमकी… अब सीएम भूपेश से मिलकर जतायेंगे अपनी नाराजगी

रायपुर 9 जून 2020। अजीत जोगी का दशकर्म भी अभी पूरा भी नहीं हुआ है कि मरवाही की राजनीति में नया कार्यक्रम शुरू हो गया। अजीत जोगी के निधन के बाद खाली हुई सीट हथियाने को लेकर राजनीतिक दलों ने अभी से ही नजरें तरेरनी शुरू कर दी है। सोमवार को जहां पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मरवाही उपचुनाव के लिए पार्टी की तैयारी का ऐलान किया…तो वहीं आज अजीत जोगी के विधायक प्रतिनिधि रहे ज्ञानेंद्र उपाध्याय ने कांग्रेस का दामन थाम कर मरवाही की राजनीति को और गरमा दिया।

अजीत जोगी के विधायक प्रतिनिधि कांग्रेस में हुए शामिल….रायपुर में ली पार्टी की सदस्यता… जोगी के बेहद खास रहे ये नेता 1980 से ही संभाल रहे थे अहम जिम्मेदारी

इधर, शाम होते-होते ज्ञानेंद्र उपाध्याय के कांग्रेस में शामिल होने की खबर ने मरवाही की राजनीति में भूचाल ला दिया। कहते हैं कि ज्ञानेंद्र के कांग्रेस में शामिल होने से कांग्रेसी कार्यकर्ता नाराज हो गये हैं, इनमें से कईयों ने तो इस्तीफा तक दे दिया है। वहीं कांग्रेस के कई नेताओं ने आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ फोन पर भी बातचीत की है और अपनी नाराजगी जतायी है।

इधर अपनी नाराजगी जताने के लिए पेंड्रा-गौरेला-मरवाही के जिलाध्यक्ष मनोज गुप्ता के नेतृत्व में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात करेगा। जाहिर है कि ज्ञानेंद्र उपाध्याय के कांग्रेस शामिल होने के बाद बदले राजनीतिक समीकरण का विरोध इस दौरान जताया जायेगा।

Spread the love