महाराष्ट्र में शायराना सियासत.. सदन में बोले Ex CM देवेंद्र- “मेरा पानी उतरा देख.. मेरे किनारे पर घर मत बना लेना..मैं समंदर हूँ.. लौटकर आउंगा” NCP ने दिया जवाब – “दौराने-सफर ख़ुशगवार हों मौसम हमेशा..यह कोई जरुरी तो नही..फ़ैसले तुम्हारे सही ही हों सारे..यह कोई जरुरी तो नहीं”

मुंबई,1 दिसंबर 2019। मुंबई में सियासत शायराना हो रही है, और शायराना अंदाज कुछ ऐसा है कि उसमें भविष्य की चेतावनी भी है तो जवाब भी कम नसीहत और ताकीद से भरा नहीं है।

विधानसभा में नई सरकार ने काम सम्हाल लिया है तो सत्ता को दूबारा हासिल कर फिर खोने के बाद विपक्ष में बतौर नेता प्रतिपक्ष बैठे पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने एक शेर पढ़ा और मानों भविष्य के संकेत सदन में दर्ज करा दिए, दिलचस्प यह है कि, ठीक यही पंक्तियाँ वर्तमान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तब कही थी जबकि गुजरात में वे अदालती फेर से गुजर रहे थे, देवेंद्र

फड़नवीस ने कहा
“मेरा पानी उतरा देख,मेरे किनारे पर घर मत बना लेना..मैं समंदर हूँ, लौटकर आउंगा”

विधानसभा में यह पंक्तियाँ जैसे ही दर्ज की गईं,उसके कुछ ही देर बाद NCP मुंबई के अध्यक्ष और अनुशक्ति नगर से विधायक नवाब मलिक ने ट्विट किया, और देवेंद्र फड़नवीस की पंक्तियों का ज़िक्र करते हुए लिखा –
“दौराने-सफर ख़ुशगवार हो मौसम हमेशा,यह कोई जरुरी तो नही.. फ़ैसले तुम्हारे सही ही हों सारे,यह कोई जरुरी तो नही”

जिन्हें सियासत में रुचि है, उनके लिए इस शायराना संवाद के मायने निकालना कतई कठिन नहीं है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.