पिक्चर ऑफ द DAY.. जात ना पूछो जोगी की बजाय जात ही पूछो जोगी की नारा बुलंद करने वाले संत कुमार नेताम और अमित जोगी दिखे साथ साथ.. बग़ल में मुस्कुराते रहे प्रवक्ता आर पी सिंह

मरवाही,17 अक्टूबर 2020। चुनाव के कई रंग होते हैं, रंग कभी किसी के लिए बेरंग होता है तो किसी के लिए उसी में भरपूर इंद्रधनुषी रंग होते हैं।इसी रंग में डूबी कई बार तस्वीरें भी निकल आती हैं।
कभी कभी तस्वीरें भी ऐसी होती हैं, जो सियासत के अंदाज मिज़ाज को भी पूरी निर्ममता से जतला देती हैं। हालाँकि ऐसी तस्वीरों का संयोग बहुत विलक्षण होता है।

अब ज़रा इस खबर के साथ मौजुद इस तस्वीर को ही देखिए।इस तस्वीर में अमित जोगी हैं, जिनके आदिवासी होने ना होने को लेकर तमाम मामले अब ‘मसले’ में तब्दील है।उनके ठीक बग़ल में संत कुमार नेताम हैं, वे संत कुमार नेताम जिन्हें अमित जोगी और उनके पिता अजीत जोगी की जाति को लेकर निर्णायक लड़ाई लड़ने के लिए जाना जाता है। तीसरे जो मौजुद हैं वे हैं कांग्रेस के तेज तर्रार और बेहद चपल प्रवक्ता आर पी सिंह।

अमित जोगी और ऋचा जोगी के नामांकन के विरुद्ध आपत्ति के लिए संत कुमार नेताम ज़िला निर्वाचन कार्यालय पहुँचे हुए हैं।कांग्रेस की ओर से भी आपत्ति की जा रही है।
राजनीति के छात्रों के लिए यह तस्वीर बहुत कुछ पढ़ाती सीखाती और समझाती है।
इधर खबरें हैं कि अमित जोगी के जाति प्रमाण पत्र को लेकर एक अहम अभिलेख रायपुर से पहुँच गया है, और नामांकन के दाख़िले पर ज़िला निर्वाचन कार्यालय कुछ ही देर में औपचारिक ऐलान कर देगा।वह ऐलान जिसकी चर्चाएँ ओपन सिक्रेट की तरह मौजुद हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.