पीएचडी चैम्बर का वेबिनार संपन्न, छत्तीसगढ़ सरकार का 200 फ़ूड पार्क बनाने का लक्ष्य

नईदिल्ली 16 जुलाई 2020। पीएच डी चेम्बर छत्तीसगढ़ चैप्टर तथा सी एस आई डी सी, के संयुक्त तत्वाधन में “छत्तीसगढ़ राज्य में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में संभावनाएं” विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया।छत्तीसगढ़ शासन की ओर से पी अरुण प्रसाद, प्रबन्घ संचालक, सीएसआईडीसी द्वारा राज्य सरकार खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में किये जा रहे प्रयासों तथा योजनाओं को पॉवर पॉइन्ट प्रेजेंटेशन द्वारा विस्तृत रूप से साझा किया। प्रसाद में अपने उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य है जहाँ गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने तथा राज्य में पूरी तरह ऑर्गनिक उत्पादन की दिशा में कार्य कर रही है।

गोविंदराम चौधरी, उपाध्यक्ष एग्री बिजनेस एवं फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि किसी भी उद्योग को स्थापित होने जो सहायता चाहिए वह सभी सुविधाएँ छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा दी जा रही हैं,  अतः सभी निवेशकों के लिए जो कि छत्तीसगढ़ में निवेश करना चाहते हैं यह एक सुनहरा अवसर है। चौधरी ने पी एच चेम्बर और छत्तीसगढ़ शासन विशेषकर छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम को इस आयोजन के लिए धन्यवाद दिया।

एस एस बजाज, अतिरिक्त प्रबंध संचालक लघु वनोपज की ओर से बताया गया कि राज्य में लॉक डाउन अवधि में भी  5000 स्वसहायता समूहों के माध्यम से रिकॉर्ड खरीदी की गई। उन्होंने राज्य में काजू , तेन्दु, जाम, आम तथा विभिन्न वनोपजों के प्रसंस्करण तथा मूल्य संवर्धन की संभावनाओं तथा अवसरों को विस्तार से बताया। बजाज ने बताया कि राज्य में हर्बल तथा प्रसंस्कृत वनोपजों की बिक्री “संजीवनी” विक्रय केंद्र के माध्यम से हो रही है तथा महुआ बीज से स्व सहायता समूहों द्वारा हर्बल उत्पाद निर्माण किया जा रहा है।

Spread the love