सेक्टर-12 तथा प्रधानमंत्री सह मुख्यमंत्री आवास योजना नवा रायपुर के भवनों में दिखी लोगों की दिलचस्पी ……सेक्टर-16, 30 एवं 34 नवा रायपुर अटल नगर में मिल रहे कम कीमतों पर आवास

रायपुर 14 फरवरी 2020। छत्तीसगढ़ हाउसिंग बोर्ड के आवास मेले में लोगों की खूब दिलचस्पी दिख रही है। छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के स्थापना दिवस आयोजित आवास मेले के तीसरे दिन लोगों की भीड़ जुटी रही। आवास मेले में मंडल की निर्मित निर्माणाधीन मकानों की जानकारी दी जा रही है, साथ ही निर्मित आवासीय/व्यवसायिक संपत्तियों में 15 से 20 प्रतिषत तक की दी जा रही छूट भी आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। छूट लगभग पूरे प्रदेष के 3,500 स्वतंत्र बंगले तथा फ्लैट में उपलब्ध है।

लोगों के द्वारा नवा रायपुर अटल नगर के सेक्टर-12, 27, 29 तथा प्रधानमंत्री सह मुख्यमंत्री आवास योजना में निर्मित सेक्टर-16,30 एवं 34 पर ज्यादा दिलचस्पी देखने को मिल रही है। जहां सेक्टर-12 के प्रिमियम बंग्ले लोगों को आर्कषित कर रहे है, तो वही सेक्टर-16,30 व 34 में प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत बन रहे कम किमतों के घर भी लुभा रहे है। योजना के तहत् निर्मित 6.00 लाख का ई.डब्लू.एस. मकान केन्द्र तथा राज्य शासन के अनुदान पष्चात् मात्र 3.50 लाख तथा 9.50 लाख का एल.आई.जी. भवन अनुदान पष्चात् 8.50 लाख में मंडल द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है।

सबसे ज्यादा साईट विजिट नवा रायपुर अटल नगर के मकानों पर की जा रही है वहीं शंकर नगर, बोरियाकला, डूमरतराई, नरदहा तथा पिरदा की साईट में भी लोगों द्वारा विजिट किया जा रहा है। विभिन्न राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा आॅन द स्पाॅट होम लोन देने के साथ ही विस्तार पूर्वक जानकारी आवास मेले में दी जा रही है।

मंडल के मुख्य संपदा अधिकारी एम.एस.शेख ने बताया कि मण्डल के सस्ते तथा किफायती दरों पर उपलब्ध मकानों में लोगों की रूचि इस आवास मेले में देखने को मिली है। वहीं सेक्टर-12 नवा रायपुर के प्रिमियम बंग्ले जो कि वास्तु अनुरूप निर्माण किये गये है वो भी एक खास वर्ग के लोगों को आर्कषित कर रहे है। मंडल द्वारा हर वर्ग के लिए आवास निर्माण कार्य निरंतर किया जा रहा है ताकि लोगों को अपने सपनो का आषियाना हकीकत में मिल सकें।

छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल आयुक्त ने कहा की मण्डल किफायती दरों पर स्वयं का आवास लोगों को उपलब्ध कराने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता आया है। प्रदेष में अच्छी गुणवत्ता वाले मकानों के साथ हितग्राहियों की सुविधा को ध्यान रखते हुए भवन आबंटन के निर्देष उनके द्वारा दिये गए है, तथा उक्त आवास मेला की अवधि में 100 करोड़ की संपत्ति विक्रय करने लक्ष्य निर्धारित किए गए है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.