OMG: Sex करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ रहे हैं लोग, सर्वे में आया सामने… जानिए

नईदिल्ली 15 मई 2020. कोरोना वायरस ने हर चीज को बदल दिया है. सेक्सुअल पार्टनर्स के लिए लॉकडाउन की अवधि को रोमांटिक बनाना बेहद मुश्किल साबित हो रहा है जो एक-दूसरे के साथ नहीं रहते हैं. हाल ही में एक सर्वे में यह खुलासा हुआ है कि कई लोगों ने सेक्स के लिए लॉकडाउन का सहारा लिया है. यहां तक कि कई लोगों ने इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने अपने पार्टनर के घर जाकर सेक्सुअली इंटीमेट होने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन भी किया है. सर्वे में यह बात सामने आई है कि हर पांच में से एक व्यक्ति ने सेक्स के लिए लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने की बात स्वीकार की है. इसके साथ ही यह खुलासा हुआ है कि जो लोग अपने सेक्सुअल पार्टनर से अलग अपने माता-पिता के साथ रहते हैं उनके लिए लॉकडाउन का समय कितना कठिन साबित हो रहा है.

सर्वेक्षण के अनुसार, सेक्स के लिए लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने वाले लोगों में लगभग 48 फीसदी ऐसे जोड़े हैं जो लॉकडाउन से पहले रिश्ते में थे, लेकिन साथ नहीं रहते हैं. 22 फीसदी लोग ऐसे है जो अपने पार्टनर को प्री-लॉकडाउन में धोखा दे रहे थे और नया अफेयर करने पर उतारू थे. करीब 8 फीसदी लोग ऐसे हैं, जिन्होंने कोरोना संकट के दौरान नया रिलेशनशिप शुरू किया है और सेक्स के लिए एक नए पार्टनर से मुलाकात की. उन सर्वेक्षणों में से आधे से ज्यादा (61%) लोगों ने अपने पार्टनर के साथ घर, कार, पार्क या समुद्र तटों पर सेक्स करने के लिए लॉकडाउन के नियमों को तोड़ा है.

सेक्स और रिलेशनशिप एक्सपर्ट जेसिका लियोनी ने द स्टार से कहा कि यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि सर्वेक्षण में 5 में से एक ने सेक्स के लिए लॉकडाउन का उल्लंघन किया है. सेक्स के लिए उत्तेजित होना बहुत आसान है, खासकर जब देर रात आप किसी ऐसे साथी से बात कर रहे हैं, जिसके साथ लॉकडाउन से पहले अक्सर मुलाकात होती रहती थी. दरअसल, फेसटाइम और जूम पर लोग फ्लर्ट करते हैं, फिर जुनून पैदा होने पर वो एक-दूसरे से मिलने के लिए सहमत होते हैं. यही कारण है कि देर रात इस तरह के कॉल्स ज्यादा देखे जा रहे हैं. लॉकडाउन के नियम उन लोगों के लिए कठोर साबित हो रहे हैं जो रिश्ते में होते हुए भी अपने पार्टनर के साथ नहीं रहते हैं.

बहरहाल. यहां इस बात पर गौर करना बेहद जरूरी है कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेसिंग वो हथियार है जो कोरोना वायरस को हराने में मदद कर सकता है, बावजूद इसके लोग लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन कर रहे हैं. ऐसा करके वो न सिर्फ अपने जीवन को बल्कि अपने प्रियजनों के जीवन को भी खतरे में डाल रहे हैं. बता दें कि हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन में ठीक होने वाले कोरोना वायरस मरीजों के स्पर्म में वायरस की मौजूदगी होने का दावा किया था. इस अध्ययन के आधार पर चीन के वैज्ञानिकों ने संभावना जताई है कि सेक्स के जरिए भी यह वायरस फैल सकता है. इस अध्ययन को अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित किया गया है.

Spread the love