टेस्ट के प्रस्ताव पर ICC से बिल्कुल जुदा है पाक के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की राय

नईदिल्ली 6 जनवरी 2019. पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने टेस्ट क्रिकेट को चार दिवसीय करने के विचार को बकवास करार देते हुए आरोप लगाया कि यह एशियाई टीमों के खिलाफ साजिश है और बीसीसीआई ऐसा नहीं होने देगा। आईसीसी 2023 से 2031 के अगले भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में चार दिवसीय टेस्ट अनिवार्य करने की योजना पर विचार कर रहा है जिससे कि व्यावसायिक रूप से लुभावने छोटे प्रारूपों के लिए अधिक दिन बच सकें।

अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर डाले वीडियो में कहा, ”आजकल एशियाई टीमों के खिलाफ हर जगह यह साजिश हो रही है। मुझे लगता है कि यह (टेस्ट मैच को चार दिवसीय करना) पूरी तरह से एशियाई टीमों के खिलाफ है। उन्होंने कहा, ”मुझे लगता है कि यह विचार बकवास है और किसी की इसमें रुचि नहीं है। अख्तर ने कहा कि आईसीसी दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई की स्वीकृति के बिना इस योजना को लागू नहीं कर सकता।

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली समझदार व्यक्ति हैं और वह टेस्ट क्रिकेट को बर्बाद नहीं होने देंगे। अख्तर ने कहा, ”आईसीसी बीसीसीआई की स्वीकृति के बिना इस नियम को लागू नहीं कर सकता। बीसीसीआई और समझदार क्रिकेटर इस विचार के खिलाफ खड़े हैं, विशेषकर श्रीलंका, पाकिस्तान और बांग्लादेश के स्पिनर और वे ऐसा नहीं होने देंगे।

उन्होंने कहा, ”सौरव गांगुली समझदार और बुद्धिमान व्यक्ति हैं। वह कभी यह नहीं देखना चाहेंगे कि टेस्ट क्रिकेट को नुकसान हो। वह चाहते हैं कि यह चलता रहे और भारत को इस प्रारूप में सफल होते देखना चाहते हैं। अख्तर ने सचिन तेंदुलकर के इस नजरिये का भी समर्थन किया कि चार दिवसीय मैच से स्पिनरों को नुकसान होगा।

अख्तर ने कहा, ”सचिन ने बिलकुल सही बिंदू पर आलोचना की। स्पिनर क्या करेंगे? दानिश कनेरिया, मुश्ताक अहमद, रविचंद्र अश्विन, हरभजन सिंह, अनिल कुंबले ने 400 से 500 विकेट चटकाए हैं। उनका क्या होगा? चार दिवसीय टेस्ट के विरोध में कई मौजूदा और पूर्व खिलाड़ी सामने आए हैं जिसमें भारतीय कप्तान विराट कोहली, तेंदुलकर, पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर, आस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर, स्पिनर नाथन लियोन, तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा और पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग शामिल हैं।

Spread the love