26 और 27 मई को कई इलाकों में खतरनाक लू चलने की आशंका… मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, जानें आज के मौसम का हाल

रायपुर 25 मई 2020। आज से नौतपा शुरू हो चुका है प्रदेश के कई हिस्सों में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चले जाने के साथ ही छत्तीसगढ़ मौसम विभाग ने ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है। मौसम विभाग के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि अगले दो-तीन दिनों में कुछ हिस्सों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। इस सप्ताह के 27 मई तक तापमान 44 डिग्री के पार जाने की संभावना है। रविवार को गया का मई महीने का अब तक का सबसे अधिक अधिकतम तापमान 42 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि शनिवार को गया का अधिकतम तापमान 38.5 डिग्री व न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस था। आज के मौसम की बात करें तो रायपुर में सुबह 11 बजे 41 डिग्री, दुर्ग में 41 डिग्री, बस्तर- जगदलपुर 37 डिग्री,  राजनांदगांव 41 डिग्री है। दोपहर 12 बजे के बाद तापमान में और बढ़ोत्तरी होगी।

केंद्रीय मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़, ओडिशा, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ, तटीय आंध्र प्रदेश, यानम, रायलसीमा और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक के छिटपुट क्षेत्रों में भी अगले तीन-चार दिनों के दौरान भी लू चल सकती है लू की स्थिति तब घोषित की जाती है जब अधिकतम तापमान कम से कम 40 डिग्री सेल्सियस हो और सामान्य तापमान में वृद्धि 4.5 डिग्री सेल्सियस से 6.4 डिग्री सेल्सियस तक हो

मैदानी क्षेत्रों के लिए, लू की स्थिति तब होती है जब अधिकतम तापमान 45 डिग्री हो और भीषण लू उस वक्त चलती है जब यह 47 डिग्री या उससे अधिक होश्रीवास्तव ने कहा कि रेड अलर्ट लोगों को आगाह करने के लिए जारी किया गया है कि वे दोपहर एक बजे से शाम पांच बजे तक घर से बाहर न निकलें क्योंकि उस वक्त धूप की तपिश सबसे अधिक होती है

वहीँ इस बार केरल में मानसून के पहुंचने में देर होगी. मौसम विभाग के अनुसार इस बार मानसून के केरल तट तक पहुंचने में 5 जून तक का समय लग सकता है. इसके अलावा मुंबई और कोलकाता में मानसून 10-11 जून तक पहुंचेगा. देश के अन्य भाग जैसे महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश में सप्ताह भर की देरी हो सकती है.

कब पैदा होती है लू
लू की स्थिति उस वक्त पैदा होती है जब अधिकतम तापमान 40 डिग्री तक पहुंच जाता है। यह सामान्य तापमान से 4.5 से 6.4 डिग्री सेल्सियस अधिक होता है। मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री तक पहुंच जाता है तो लू के हालात पैदा हो जाते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.