फेसबुक पर करोड़पति युवक को आशिकी पड़ी महँगी, डेटिंग के नाम युवक को लड़की ने बुलाया…फिर कर लिया अपहरण….मांगी 30 लाख की फिरौती…राजधानी में अपहरण और चौकाने वाला खुलासा

रायपुर 22 अक्टूबर 2020। फेसबुक पर कपड़ा कारोबारी के बेटे ने जिसे खूबसूरत हसीना समझा, दरअसल वो तो हसीना के भेस में एक खौफनाक किडनैपर निकला है। शातिर किडनैपर ने पहले फेसबुक पर लड़की के नाम से फर्जी आईडी बनायी फिर करोड़पति कारोबारी को अपने जाल में फसाया…उसके बाद डेटिंग के नाम पर बुलाकर उसका अपहरण कर लिया फिर 40 लाख की फिरौती भी मांग डाली। वो तो शुक्र है राजधानी पुलिस का, जिसने वक्त रहते कारोबारी युवक को फिल्मी स्टाइल में किडनैपरों के चगुंल से सकुशल बरामद कर लिया है। घटना बुधवार की देर रात सिविल लाईन थाना क्षेत्र की है।

पुलिस ने ऐसे छुड़ाया किडनैपरों के चंगुल से कारोबारी के बेटे को…. 

दरअसल सिविल लाईन निवासी कपड़ा कारोबारी के बेटे सोहेल खान (24) का बुधवार की देर रात अपहरण कर लिया गया था। घटना की सूचना मिलते ही मामले को गंभीरता से लेते हुये एसएसपी अजय यादव ने शहर एडिशनल एसपी लखन पटले और क्राइम एडिशनल एसपी अभिषेक माहेश्वरी और सायबर क्राइम प्रभारी रमाकांत साहू को जांच के आदेश दिये गये। पुलिस जांच के दौरान परिजनों को किडनैपरों का काॅल आया। काॅल में किडनैपरों ने परिजनों से 30 लाख फिरौती मांगी, जिस पर किडनैपरों ने 10 लाख पर डिल पक्की की। इस दौरान किडनैपरों ने कारोबारी के बेटे को रायपुर से राजनांदगांव, दुर्ग, महासमुंद, आरंग और फिर गरियाबंद ले कर गए। पुलिस लगातार आरोपियों का काॅल डिटेल ट्रेस कर रही थी, तभी पुलिस को आरापियों का लोकेशन गरियाबंद घटारानी के कोडेल चौक का मिला। पुलिस ने पूरी सूझबूझ के साथ घेराबंदी कर चार किडनैपरों में तीन को मौके से गिरफ्तार किया गया। वहीं एक आरोपी पुलिस कार्रवाई के दौरान भागने में कामयाब हो गया, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। पकड़े गये आरोपियों में अमीन अली मौदहापारा, पीयूष रामचुरा मौदहापारा और फ्रांसिस मांझी खमतराई को गिरफ्तार किया है।

फेसबुक पर खूबसूरत लड़की के नाम से बनाई थी फर्जी आईडी

पुलिस पूछताछ में पकड़े गये एक आरोपी ने बताया कि, उसी ने ही इस घटना को अंजाम देने के लिए लड़की के नाम पर एक फर्जी आईड़ी बनाई थी। फेसबुक के माध्यम से ही करोड़पति कारोबारी केे बेटे सोहेल से उसकी दोस्ती हुई थी। काफी दिनों तक चैट होने के बाद 21 अक्टूबर की रात करीब एक बजे उसे सिविल लाईन इलाके में मिलने के लिए बुलाया गया था। कारोबारी पुत्र जब मिलने के लिये मौके पर पहुंचा तो आरोपी किडनैपर ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर उसका किडनेप कर लिया। साथ ही चिल्लाने पर चाकू दिखाकर जान से मारने की धमकी दी।

छह घंटे तक साथ घुमाया किडनैपरों ने
आरोपी किडनेपर अपनी कार में कारोबारी के बेटे को छह घंटों तक साथ में घुमाते रहे। किडनैपरों ने पकड़े जाने के डर से कारोबारी के बेटे का ही मोबाइल से परिजनों को फिरौती की रकम के लिये  काॅल करते थे। पुलिस ने भी बड़ी सूझबूझ के साथ पूरी रात किडनैपरों से फोन पर परिजन बनकर बात करते रहे। इस दौरान जैसे ही लोकेशन टे्र्स हुआ, उस दौरान किडनैपरों को धर दबोचा गया। किडनैपरो ने इस अपहरण के लिये जिस चाकू का उपयोग किया था, पुलिस ने उस चाकू को भी अपने कब्जे में ले लिया है। फिलहाल पुलिस की इस सूझबूझ के कारण राजधानी में हुई बडी अपहरण की घटना को कुछ ही घंटो में सुलझा लिया गया है।

 

Spread the love