OMG: युवराज सिंह का IPL को लेकर बड़ा खुलासा, बोले- कप्तान होने के बावजूद नहीं मिलती थी इज्जत, भागना चाहते थे टीम से…

मुंबई 14 मई 2020। ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट की शुरुआत में युवराज सिंह की गिनती सबसे कामयाब खिलाड़ी के तौर पर होती थी। लेकिन आईपीएल में युवराज सिंह करीब 10 साल खेलने के बाद भी कोई बड़ा मुकाम हासिल नहीं कर पाए। कौन भूल सकता है 2007 वर्ल्ड टी-20 में छह गेदों पर छह छक्कों की अर्धशतकीय पारी। इंग्लिश बॉलर स्टुअर्ट ब्रॉड को बैंड बजाने वाले युवी को अगले साल से शुरू हुए इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रैंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब की कमान सौंपी गई। अब युवी ने अपनी होम टीम से जुड़ा एक सनसनीखेज खुलासा किया है।

भारतीय क्रिकेट टीम के इस पूर्व ऑलराउंडर ने 2008 से 2010 तक KXIP की अगुवाई की थी। अब युवी का कहना है कि टीम मैनेजमेंट की वजह से वह टीम से भाग जाना चाहते थे। युवराज ने अपने कड़वे अनुभव को शेयर करते हुए कहा, ‘किंग्स इलेवन टीम मैनेजमेंट के काम करने का तरीका उन्हें पसंद नहीं था। मुझे बस पंजाब की टीम की जर्सी के अलावा और किसी चीज से प्यार नहीं था।’

सहारा पुणे वॉरियर्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, दिल्ली डेयरडेविल्स, सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस जैसी टीम का हिस्सा रह चुके युवी ने कहा, ‘मेरी बात नहीं मानी जाती थी। मैं जैसा कहता था, वे वैसा कुछ नहीं करते थे। और जब मैंने टीम का साथ छोड़ा तो उन्होंने उन सभी खिलाड़ियों को खरीद लिया जिनके लिए मैं उनसे कहता था।’

 

Spread the love