NPG इम्पैक्ट : कोरोना संक्रमण में बदइंतजामी पर NPG की खबर के बाद हरकत में आया जिला प्रशासन….. नोडल अफसरों की नियुक्ति की गयी…. बैरिकेटिंग से लेकर कंटेनमेंट तक के लिए होंगे पूरी तरह से जिम्मेदार….आज से ही आदेश होगा प्रभावी… आदेश देखिये

रायपुर 25 जुलाई 2020। NPG की खबर का बड़ा असर हुआ है। कोरोना पॉजेटिव मरीज को लेकर बदइंतजामी और स्वास्थ्य व निगम प्रशासन की अनदेखी की खबर पोस्ट होने के कुछ देर बाद ही कलेक्टर एस भारतीदासन ने बड़ा एक्शन लिया है। कलेक्टर ने रायपुर जिला को जोन क्रमांक के मुताबिक बांटते हुए हर जोन के लिए नया प्रभारी नियुक्त किया है। अब ये प्रभारी पूरी तरह से कोरोना पॉजेटिव मरीज मिलने के बाद उसे कंटेनमेंट करने और सील करने के लिए जिम्मेदार होंगे।

आपको बता दें कि कल रात ही NPG ने एक वीडियो पोस्ट की थी, जिसमें स्वास्थ्य व प्रशासन की बदइंतजामी का सच दिखाया गया था। रायपुर के अमलीडीह इलाके में एक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के कोरोना पॉजेटिव मिलने के 48 घंटे बाद भी उन्हें ना तो अस्पताल में दाखिला कराया गया था और ना ही उस एरिया को सील किया गया था। खानापूर्ति के नाम पर सिर्फ कुछ बांस की बल्लियां जमीन पर रख दी गयी थी।

इस वीडियो के पोस्ट होने के बाद हजारों की संख्या में लोगों ने NPG की आफिसियल फेसबुक व YOUTUBE में देखा था। भाजपा ने इस पोस्ट को लेकर स्वास्थ्य विभाग के इंतजामों पर सवाल उठाये थे। लिहाजा अब जिला प्रशासन ने जिले को 13 क्षेत्रों में बांटा है और उनके लिए अनुविभागीय अधिकारी की नियुक्ति की है। साथ ही उनके नाम और नंबर भी जारी किये गये हैं, कि अगर किसी भी क्षेत्र में कोरोना पॉजेटिव केस मिलता है और वहां कंटेनमेंट नहीं किया जाता है तो अधिकारी से संपर्क किया जा सकता है।

कलेक्टर एस भारतीदासन ने आज से ही इस आदेश को प्रभावशील कर दिया है। जिन अफसरों को जिम्मेदारी दी गयी है, वो नोडल अफसर होंगे। वे अफसर सिर्फ अपना क्षेंत्र ही नहीं देखेंगे, बल्कि अगर अन्य क्षेत्र की सूचना भी उन तक आती है तो संबंधित क्षेत्र के नोडल अफसर को इसकी सूचना देंगे। अधिकारी कंटेनमेंट क्षेत्र में बैरकेडिंग कार्य के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार होंगे। अधिकारियों को इस बात को भी निर्देशित किया गया है कि 24 जुलाई तक जिन क्षेत्र में कोरोना पॉजेटिव मिले हैं, वहां आज तक कंटेनमेंट के साथ-साथ बैरिकेडिंग की व्यवस्था पूरी कर ली जाये।

Spread the love