स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव ने दिये निर्देश…हाईरिस्क डिलवरी के लिए एनएचए को प्रस्ताव

*  हाईरिस्क डिलवरी का अनुबंधित अस्पतालों में हो सकेगा उपचार

*  एनएचए को भेजे प्रस्ताव में सहमति मिलने तक निजी अस्पतालो को वैकल्पिक व्यवस्था उपलब्ध कराई गई

रायपुर 22 फरवरी 2020. स्वास्थ्य मंत्री  सिंहदेव के निर्देश पर हाईरिस्क डिलवरी को भी निजी अनुबंधित अस्पतालों के लिए ओपन कर दिया गया है। एनएचए को इसके लिए प्रस्ताव भेजा जा चुका है। सहमति मिलने तक वैकल्पिक व्यवस्था कर दी गई है।
राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना (डीकेबीएसएसवाॅय) में हाईरिस्क डिलवरी के लिए मरीजों को निजी अनुबंधित अस्पतालों में उपचार की सुवधिा प्रदान कर दी गई है। वर्तमान में एनएचए को इसके लिए प्रस्ताव भेज सहमति मांगी गई है। साथ ही सहमति मिलने तक मरीज की दिक्कतों को ध्यान रखते हुए निजी अनुबंधित अस्पतालों को वैकल्पिक व्यवस्था दे दी गई है। इस तरह अब हाईरिस्क डिलवरी भी सभी के लिए ओपन है।

रेफरल की जरूरत नहीं

स्वास्थ्य मंत्री  सिंहदेव ने वैकल्पिक व्यवस्था में निजी अनुबंधित अस्पतालों को शासकीय अस्पतालों से रेफरल पर्ची लेने की बाध्यता भी नहीं रखने के स्पष्ट निर्देश दिये है। इस तरह मरीज योजना के तहत् अनुबंधित अस्पतालों में सीधे पहुॅचकर उपचार लाभ ले सकता हैं। जिसका भुगतान डीकेबीएसएसवाॅय से होगा।

पैकेज रू. नौ हजार का

हाईरिस्क डिलवरी को वैकल्पिक व्यवस्था में निजी अनुबंधित अस्पतालों को राशि 9000 रू. का पैकेज मिलेगा। इस तरह मरीज को उपचार लाभ देकर निजी अनुबंधित अस्पताल वैकल्पिक व्यवस्था के माध्यम से अपना क्लेम कर सकते है। एनएचए को भेजे गए प्रस्ताव में सहमति मिलने पर योजना में यह पैकेज भी शामिल कर लिया जाएगा।

Spread the love