अब सब्जी खरीदने निकले बाहर तो भेजा जायेगा जेल, यहाँ हुआ पुलिसकर्मियों पर चाकू से हमला… सीएम ने सभी जिलों में किया टोटल लॉकडाउन

भोपाल 7 अप्रैल 2020. कोरोना वायरस से बचने का एक मात्र इलाज सोशल डिस्टेसिंग है, जिसको देखते हुए लॉकडाउन व कफ्र्यू लगाया गया। इसके बावजूद लोग मानने के लिए तैयार नहीं हैं, जो अब सीधे अस्थाई जेल जाएंगे। प्रशासन ने सारी तैयारियां जुटा ली हैं। प्रशासन ने कफ्र्यू लगा रखा है, इसके बावजूद लोग कभी दूध, सब्जी, दवाई के नाम पर घरों से निकल रहे थे।

अब जो व्यक्ति बिना काम बाहर घूमता मिलेगा, किराना की दुकान खुली रखेगा या सब्जियां बेचता मिलेगा, उसे गिरफ्तार किया जाएगा। महत्वपूर्ण बात यह है कि जो इन दुकानों या ठेलों से खरीदारी करेगा, उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। इसके लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने सांवेर रोड स्थित श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय के प्रथम तल को 30 दिन तक अस्थायी जेल घोषित किया है। किराना की दुकानें खोलने, सब्जियां बेचने पर पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है। शहर में 60 से ज्यादा लोगों पर कार्रवाई की है। तिलक नगर पुलिस ने भी कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर छह पर केस दर्ज किया। इंदौर में अब तक 151 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यहां महामारी से मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। एक अच्छी खबर भी आई। सोमवार को कोरोना से जंग जीतकर 11 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 274 हो गई है। प्रदेश में अब तक 17 मरीजों की मौत हुई है। उधर, भोपाल में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारी और पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने के मामले भी बढ़ रहे हैं। यहां मिले 75 मरीजों में 34 अकेले स्वास्थ्य विभाग के हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन का पालन नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। संक्रमण रोकने के लिए सभी जिलों में टोटल लॉकडाउन का आदेश दिया गया है। अगर कोई कोरोना संक्रमण को छिपाता है या जांच में सहयोग नहीं करता तो यह गंभीर अपराध होगा। ऐसे लोगों को एफआईआर दर्ज कर और जेल भेजा जाएगा।

भोपाल: बाहर घूमने से रोकने पर पुलिसकर्मियों को चाकू मारे

इंदौर में डॉक्टरों पर हमले के बाद अब भोपाल में पुलिसकर्मियों पर हमला हुआ है। सोमवार देर रात तलैया इलाके स्थित इस्लामनगर में भीड़ हटाने पहुंची पुलिस पर बाहर घूम रहे कुछ हिस्ट्रीशीटर बदमाशों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। रात करीब साढ़े दस बजे एक बदमाश ने अपने दर्जनभर साथियों के साथ मिलकर छह पुलिस कर्मियों पर हमला किया। पुलिस ने इन लोगों को बाहर घूमने से रोका था। इस पर तीन बदमाशों ने दो पुलिस कर्मियों पर चाकू चला दिया। एक पुलिसकर्मी के हाथ में तो दूसरे के कंधे में चोट लगी है। वारदात के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। घायलों को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस आज याने मंगलवार से सख्ती करेगी।

सोमवार से शहर की किराना, ग्रोसरी, ब्रेड, फल, सब्जी दुकानें और दूध डेयरियां पूरी तरह से बंद कर दी गईं। अब गैस एजेंसियों तक भी लोग नहीं जा सकेंगे। यदि लोगों को इनमें से किसी चीज की जरूरत है तो वे होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर कर सकते हैं। संबंधित दुकानदार रात 8 बजे तक होम डिलीवरी करेंगे। कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया धारा-144 के तहत रविवार देर रात ये आदेश जारी किए हैं। एसएसपी सचिन अतुलकर ने कहा- आदेश का लोगों से सख्ती से पालन कराया जाएगा। यदि कोई बेवजह सड़क पर मिला तो धारा-188 के तहत केस दर्ज किया जाएगा। उज्जैन में रविवार को आठवां पॉजिटिव सामने आया। दो दिन पहले जिस महिला की अस्पताल में खड़ी एंबुलेंस में मौत हुई थी, उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब तक यहां 3 संक्रमितों की मौत हो गई है। 5 पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.