22 जनवरी को होगी निर्भया के दोषियों को फांसी, डेथ वॉरंट जारी….. 7 साल बाद दरिंदगी मामले में सुनायी गयी सजा-ए-मौत

नयी दिल्ली 7 जनवरी 2020। 

साल 2012 में निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को चारों दोषियों का डेथ वॉरंट जारी कर दिया. इन चारों को 22 जनवरी की सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा. इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट के जज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चारों दोषियों से बात की. इस दौरान मीडिया को भी अंदर नहीं जाने दिया गया. सुनवाई के दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं. गौरतलब है कि निर्भया मामले में चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन को पहले ही फांसी की सजा दी जा चुकी है.

पटियाला हाउस कोर्ट ने सभी चार दोषियों (अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा, मुकेश और पवन गुप्ता) के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर दिया है. चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी. बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को निर्भया के साथ गैंगरेप हुआ था और 29 दिसंबर 2012 को इलाज के दौरान सिंगापुर में उसकी मौत हो गई थी.

अदालत जब मृत्युदंड देती है तो उससे पहले दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करती है. इस वारंट को दंड प्रक्रिया संहिता यानि सीआरपीसी का फॉर्म नंबर 42 कहा जाता है जिसमें दोषी को फांसी की सजा का अनिवार्य आदेश होता है….दोषी अक्षय ने कहा कि मुझे कुछ कहना है. उसने कहा कि जेल सुपरिटेंडेंट मीडिया में खबर दे रहे हैं. उसने कहा कि मैं क्यूरेटिव फ़ाइल करूंगा, हमारे खिलाफ गलत जानकारी दी जा रही है जेल की तरफ से. अब कोर्ट रूम से मीडिया को बाहर कर दिया गया है.

 

Spread the love