NEET, JEE मेंस की परीक्षा स्थगित होगी? एनटीए की रिपोर्ट पर HRD मिनिस्ट्री कल लेगा फैसला, परीक्षा स्थगित करने सोशल मीडिया में मुहिम

NPG.NEWS
नई दिल्ली, 2 जुलाई 2020। नीट और जेईई मेंस एग्जाम को स्थगित करने के लिए एचआरडी मिनिस्ट्री पर छात्रों और अभिभावकों का दबाव बढ़ता जा रहा है। एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल से कोरोना का हवाला देते हुए सीबीएसई की तरह नीट और जेईई की परीक्षा भी स्थगित करने की मांग की जा रही है।

उधर, केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री पोखरियाल ने एक वीडियो ट्वीट के जरिये संकेत दिए हैं कि नीट और जेईई पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा है कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी एनटीए को इस पर कल तक अनुशंसा देने कहा गया है। एनटीए की अनुशंसा के बाद इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि नीट और जेईई परीक्षाओं की स्थिति की समीक्षा एनटीए की कमेटी करेगी। उन्होंने कहा कि नीट और जेईई की परीक्षा में बैठने वाले सभी विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों का निवेदन है कि वर्तमान की परिस्थितियों को मद्देनजर रखते हुई इन परीक्षाओं को स्थगित किया जाए।

आपको बता दें कि बुधवार रात को ट्विटर पर #RIPNTA ट्रेंड करने लगा। इस हैशटैग के साथ लाखों ट्वीट किए गए। स्टूडेंटस इन दोनों ही परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग कर रहे हैं। नीट परीक्षा 26 जुलाई को होगी जिसमें करीब 16 लाख छात्र बैठेंगे। वहीं, जेईई मेन की परीक्षा 18 से 23 जुलाई के बीच आयोजित की जानी है।

परीक्षा टलने के आसार बढ़े

महाराष्ट्र, नागालैंड, झारखंड, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु जैसे राज्यों में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ गया है। इन तमाम राज्यों के स्टूडेंट्स ने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को टालने की मांग और तेज कर दी है। इसके अलावा केंद्र सरकार ने भी 1 जुलाई से लागू होने वाले अनलॉक 2 की गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके मुताबिक 31 जुलाई तक मेट्रो तक बंद रहेगी और कंटेनमेंट जोन में सख्ती और बढ़ जाएगी। अब सवाल यह भी है कि अगर कोई छात्र कंटेनमेंट जोन में रहता है तो वह परीक्षा केंद्र तक कैसे पहुंचेगा।

सीबीएसई 10वीं 12वीं परीक्षा रद्द होने के बाद से ट्विटर पर हैश टैग #PostponeNEETandJEE से ट्वीट और बढ़ गए हैं। स्टूडेंट्स लगातार मांग कर रहे कि कोरोना संक्रमण की स्थिति में स्टूडेंट्स के स्वास्थ्य को खतरे में नहीं डाला जा सकता। परीक्षा स्थगित होनी चाहिए। घोषणा में एनटीओ और मानव संसाधन विकास मंत्रालय को देरी नहीं करनी चाहिए। स्टूडेंटस् अपने ट्वीट में एचआरडी मंत्रालय, पीएमओ को टैग भी कर रहे हैं।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.