“राष्ट्रीय उपाध्यक्ष माननीय रमन सिंह ट्वीट के बजाय पत्र ही लिख देते” CM भूपेश बघेल का रमन सिंह पर जोरदार कटाक्ष, बोले- “आजकल घर से निकलना होता नहीं उनका, तो पता नहीं रहता प्रदेश में क्या कुछ हो रहा”

रायपुर 9 जनवरी 2021। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह पिछले तीन-चार दिन से लगातार कांग्रेस पर हमलावर हैं। वो लगातार एक के बाद एक ट्वीट कर भूपेश सरकार को घेरने की कोशिश कर रहे हैं, अब उन्ही ट्वीट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीखा पलटवार किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पलटवार कर नसीहत दी है कि ट्वीट के बजाय भारत सरकार को पत्र लिखना चाहिये। रमन सिंह के कार्यकाल के वक्त 60 लाख मीट्रिक टन चावल की खरीदी हुई थी, जबकि 24 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की अभी सहमति दी गयी है।

“राष्ट्रीय उपाध्यक्ष माननीय रमन सिंह को ट्वीट के बजाय पत्र लिखकर भारत सरकार से मांग करनी चाहिये, उन्हें कहना चाहिये कि 24 लाख मीट्रिक टन के बजाय 60 लाख मीट्रिक धान की खरीदी केंद्र सरकार करे”

दरअसल कुछ देर पहले राहुल गांधी के एक पुराने वीडियो को शेयर कर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सरकार को घेरा था। उन्होंने लिखा था कि आधा वक्त तो गुजर गया, अब तो काम कीजिये। उन्होंने राहुल गांधी के किये वादों का भी जिक्र किया था… ट्वीट में रमन सिंह ने लिखा था…

इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि

“भारत सरकार ने बारदाना उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था, लेकिन आज तक बारदान उपलब्ध नहीं कराया जा सका।  हम प्रदेश में एथनॉल प्लांट लगाना चाहते हैं, लेकिन चिट्ठी-पतरी लिखते हुए दो साल हो गया, आज तक अनुमति नहीं मिली है। गन्ना से एथनॉल बनाने का काम हम गन्ना से शुरू कर चुके हैं, हम चावल से भी एथेनॉल बनाना चाहते हैं, लेकिन उसकी भी अनुमति नहीं दी जा रही है, भारत सरकार बोलती है कि आप अपने चावल से एथेनॉल नहीं बना सकते, रमन सिंह सिंह को चाहिये भारत सरकार को पत्र लिखकर कम से कम इसकी ही अनुमति दे दे, जहां तक फूट प्रोसेसिंग प्लांट का सवाल है प्रदेश में कई फूड प्रोसेसिंग प्लांट शुरू हो गये हैं”

भूपेश बघेल ने रमन सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि …

“आजकल रमन सिंह को घर से निकलना होता नहीं है, इसलिए उन्हें कुछ पता रहता नहीं कि प्रदेश में क्या कुछ हो रहा है”

 

Spread the love