नड्डा ने याद किया राजमाता को तो कांग्रेस पर बरसे ज्योतिरादित्य सिंधिया – “यह वो कांग्रेस नहीं है.. प्रदेश में रेत और ट्रांसफ़र का माफिया चल रहा है..मेरे लिए राजनीति जनसेवा का माध्यम है और कुछ नही है” मध्यप्रदेश से राज्यसभा प्रत्याशी घोषित हुए सिंधिया

नई दिल्ली,11 मार्च 2020।आखिरकार मध्यप्रदेश की सियासत में कांग्रेस के सबसे अहम किरदार रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में औपचारिक रुप से शामिल हो गए, और इसके कुछ ही देर बाद भाजपा ने मध्यप्रदेश से राज्यसभा के प्रत्याशी के रुप में ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम घोषित कर दिया।
भाजपा राष्ट्रीय कार्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा की सदस्यता दी। राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने राजमाता विजया राजे सिंधिया का ज़िक्र करते हुए कहा

 

“राजमाता ने दशा और दिशा दी.. जनसंघ और भाजपा की संस्थापक राजमाता विजयाराजे सिंधिया थीं, मैं उनके पौत्र का स्वागत करता हूँ.. ये परिवार के सदस्य हैं अपने परिवार में शामिल हो रहे हैं.. मैं विश्वास देता हूँ कि आपके मुख्य धारा में काम करने का सौभाग्य मिलेगा”
इसके ठीक बाद वह संबोधन हुआ जिसका इंतज़ार पूरी मीडिया को था। वह संबोधन था ज्योतिरादित्य सिंधिया का। ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस पर बरसे और जमकर बरसे –
“यह वह कांग्रेस नहीं है..जो कि यह थी.. मेरा मन व्यथित हैं और दुखी भी है..मेरे दिल का भाग मध्यप्रदेश.. हमने सपना पिरोया लेकिन अठारह महिने में सपने बिखर गए.. किसानों का ऋण माफ़ नहीं हुआ.. मुआवज़ा नहीं मिला.. मंदसौर का सत्याग्रह मैंने छेड़ा.. वहाँ मुक़दमे वापस नही हुए”

 

श्रीमंत ज्योतिरादित्य बरसे –
“रोज़गार के अवसर नही.. भत्ता नही.. लेकिन भ्रष्टाचार के उद्योग और अवसर हैं.. रेत और ट्रांसफ़र का माफिया चल रहा है..”
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा –
“सत्य के पथ पर मूल्यों के आधार पर व्यक्ति चलता है…मेरे पिता और मेरे लिए लक्ष्य भारत माँ की सेवा है.. जनसेवा है.. और राजनीति केवल उस लक्ष्य के प्रति माध्यम है और कुछ भी नही”

इन बातों के साथ यह संक्षिप्त वार्ता समाप्त हुई। और इसके कुछ ही देर बाद भाजपा की ओर से मध्य प्रदेश से राज्यसभा की दो सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान हुआ जिसमें पहले नंबर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम दर्ज था।
कुछ ही देर में मध्य प्रदेश के शीर्षस्थ भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विट किया, जिसपर लिखा था –
“स्वागत है महाराज.. साथ है शिवराज”

Spread the love