comscore

स्कूली बच्चे की मर्डर थ्योरी । शादी टालना चाहता था प्रेमी, इसलिए होने वाले साले को उतार दिया मौत के घाट…….शादी तय होने की जानकारी हत्यारे ने अपने परिवार में नहीं दी थी… राज खुलने का था डर

बिलासपुर 8 फरवरी 2021। 9 साल के स्कूली बच्चे के मर्डर मामले में आरोपी ने पुलिस को जो थ्योरी बतायी है, वो बहुत अजीब है। अपहरण की झूठी कहानी गढ़ने वाले आरोपी के गुनाह कबूलने के बाद शव भी बरामद हो गया है और अब उसे कोर्ट में पेश किया जा रहा है। इधर हत्या के पीछे का जो लब्बोलुबाब आया है, उसके मुताबिक 18 साल के आरोपी ओम अपनी शादी को टालना चाहता था, जिसकी वजह से ही उसने ये पूरी वारदात को अंजाम दिया।

जानकारी के मुताबिक हत्यारा ओम, मृतक प्रियांशु की बहन का प्रेमी था। प्रियांशु के बहन की उम्र 15 साल की है। प्रियांशु के घरवालों को जब इस प्रेम संबंध की जानकारी मिली तो ओम नायक को लड़की के परिवारवालों ने कहा कि वो लड़की से उसकी शादी करा देंगे, लेकिन वो पहले अपने मां-पिता को घर लेकर आये। लड़की से वो शादी अभी नहीं करना चाहता था, इसलिए लड़के ने अपने परिवार को भी इसकी जानकारी नहीं दी।

लड़की वाले जब लड़के से पूछते तो वो घरवालों के आने को लेकर बात को घुमाता था। लड़के ने कुछ दिन पहले ये बताया था कि उसके घरवाले रविवार को सगाई के लिए आ रहे हैं। लेकिन इस सगाई की बात से सूरजपुर में आरोपी ओम नायक का परिवार पूरी तरह से अनजान था। ना तो उन्हें रविवार को सगाई की कोई जानकारी थी, ना ही उन्हें शादी के बारे कोई बातें बतायी गयी थी।

ओम के बताये के मुताबिक रविवार को लड़की के घर पर सगाई की तैयारी शुरू हो गयी, तो आरोपी ओम नायक को इस बात का डर सताने लगा था कि उसकी पोल खुल जायेगी, क्योंकि इस शादी और सगाई की जानकारी उसने अपने घर में दी ही नहीं थी और ना ही रविवार को कोई सगाई के लिए आने वाले थे, लिहाजा आरोपी ओम ने हत्या का प्लान बनाया। उसने 9 साल के अपने होने वाले साले को बैर खिलाने के बहाने ले गया और फिर उसकी हत्या कर दी। थोड़ी देर बाद घर आकर उसने अपहरण की झूठी कहानी घरवालों को बता दी।

कमाल की बात ये रही कि आरोपी खुद भी अपहरण की रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंच गया था। हालांकि पुलिस ने जब अपहरण की सूचना देने वाले ओम से कड़ाई से पूछताछ शुरू की तो वो टूट गया और गुनाह कबूल कर लिया।

Spread the love