लव ट्राएंगल में भाजपा नेता के बेटे की हुई हत्या……दोस्तों ने ही पीट-पीटकर मार डाला…फिर डेड बॉडी पर बाइक गिराकर भाग निकले

गोरखपुर 18 अक्टूबर 2020। भाजपा नेता के हीरालाल के बेटे की हत्या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। मर्डर की ये पूरी घटना के पीछे की वजह त्रिकोणीय प्रेम बतायी जा रही है। लव ट्रेंगल की वजह से भाजपा नेता के बेटे राणा प्रताप बेलदार की हत्या उसके दोस्तों ने ही की थी। पुलिस ने हत्या के आरोपी तीनों दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों से कड़ाई से पूछताछ में उन लोगों ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया. आरोपियों ने बताया कि रामकेश यादव का एक महिला के साथ अवैध संबंध रहा है. उसी महिला से राणा प्रताप भी लुक-छिपकर मिलता रहा है. रामकेश यादव उसे बार-बार महिला से मिलने से मना कर रहा था. लेकिन, राणा प्रताप उसकी बात को अनसुना कर रहा था।

एसपी उत्तरी अरविन्द कुमार पाण्डेय और सीओ चौरीचौरा कपिलदेव मिश्रा ने बताया कि गुलरिहा क्षेत्र के जंगल अयोध्या प्रसाद गांव के श्रीरामपुर टोला निवासी हीरालाल के बेटे राणा प्रताप का शव शुक्रवार की सुबह सोनबरसा जंगल समय माता स्थान के पास मिला था। सिर पर डण्डे से प्रहार कर उसे मौत के घाट उतारा गया था। दुर्घटना का रूप देने के लिए बदमाश उसके ऊपर बाइक गिराकर चले गए थे। गुलरिहा इंस्पेक्ट रवि कुमार राय घटना की तफ्तीश में जुटे तो मालूम चला कि आशनाई में राणा प्रताप की हत्या की गई।

मोबाइल सर्विलांस एवं अन्य पर्याप्त साक्ष्य मिलने के बाद पुलिस तीन आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। शनिवार को दोपहर तकरीबन डेढ़ बजे पुलिस ने तीनों आरोपितों को बेनीगंज के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उनकी पहचान गुलरिहा क्षेत्र के जंगल अयोध्या गांव के दरोगा टोला निवासी रामकेश यादव, खुटहनखास गांव के टोला सोनबरसा निवासी राकेश यादव और मूलत: पिपराइच क्षेत्र के पतरा व वर्तमान पता चिलुआताल के मिर्जापुर निवासी पन्नेलाल बेलदार के रूप में हुई। रामकेश एक महिला के साथ पन्नेलाल के घर किराये पर कमरा लेकर रहता था।

शराब पिलाकर उतारा मौत के घाट
पुलिस की पूछताछ में आरोपित रामकेश यादव ने बताया कि उसका एक महिला से प्रेम संबंध था। वह उस महिला के साथ पन्नेलाल के घर किराए पर कमरा लेकर रहता था। राणा प्रताप भी उस महिला से मिलने-जुलने लगा था। मना करने के बाद भी वह मान नहीं रहा था। इसके बाद वह उसे ठिकाने लगाने का योजना बनाया। घटना वाले दिन पन्नेलाल राणा प्रताप को घर से बुलाकर ले आया। वह पहले शराब पीये और नशे में होने के बाद गुरुवार शाम तकरीबन 6.30 बजे राणा को उसकी बाइक से ही लेकर सोनबरसा जंगल में पहुंचे। वहां रामकेश और राकेश ने डण्डे से उसके सिर पर प्रहार कर दिया। इससे उसकी मौत हो गई। इस हत्याकांड को दुर्घटना का रूप देने के लिए वे राणा के ऊपर बाइक गिराकर फरार हो गए। उसकी मौत हुई है कि नहीं, इसकी जांच करने को वह एक घंटे बाद दोबारा मौके पर पहुंचे थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.