मां ने की चार बेटियों की हत्या: बेटा न होने के ताने से थी परेशान, सोते समय चार बेटियों का गला काट डाला…फिर खुद भी की ख़ुदकुशी…..

नईदिल्ली 28 नवंबर 2020। हरियाणा के नूंह जिले के पिपरौली गांव में जिस मां ने जन्म दिया, उसी ने अपनी चार बेटियों की हत्या कर दी। इस वारदात को उस समय अंजाम दिया गया, जब चारों बेटियां सो रही थीं। तेज धार वाले हथियार से चारों का गला रेत दिया गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. चार मासूम लड़कियां के खून से पूरा घर सना हुआ था. पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही आरोपी घायल मां को गिरफ्तार कर लिया है। 

गंभीर रूप से घायल महिला को इलाज के लिए शहीद हसन खां मेवाती राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नलहड़ में भर्ती कराया गया। घटना के बाद पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारनियां ने मौके पर पहुंच हालात का जायजा लिया तथा पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए अल आफिया अस्पताल मांडीखेड़ा भेजकर बच्चियों के पिता की शिकायत पर महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

खुर्शीद ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह गुरुवार को घर से बाहर गया था। शुक्रवार भोर करीब 3 बजे घर पहुंचा तो घर का कमरा अंदर से बंद था और अंदर उसकी पत्नी फरमीना कराह रही थी। उसने चिल्लाकर पड़ोसियों को बुलाया और कमरे का दरवाजा तोड़ा तो वहां पर उसकी चारों बेटियां मुस्कान, मुस्कीना, अल्सिफा और अरबीना गला कटने से खून से लथपथ पड़ी थीं। चारों की मौत हो चुकी थी। जबकि फरमीना का भी गला कटा हुआ था। उसे इलाज के लिए नलहड़ मेडिकल कालेज ले जाया गया। खुर्शीद की सबसे छोटी बेटी पांच महीने व सबसे बड़ी बेटी सात साल की थी।

खुर्शीद ने बताया कि फरमीना को कोई बेटा नहीं था। इसको लेकर वह काफी दिनों से मानसिक रूप से परेशान थी। तभी फरमीना से इस घटना को अंजाम दिया है। पुन्हाना के थाना प्रभारी संतोष कुमार ने कहा कि पिता खुर्शीद की शिकायत पर बच्चियों की मां के खिलाफ हत्या सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपित महिला भी गंभीर रूप से घायल है। मामले की जांच चल रही है।

Spread the love