मानसून अलर्ट: इस साल भी देर से दस्तक देगा मानसून, मौसम विभाग ने बताई तारीख…. पांच साल में तीन बार देरी से पहुंचने का है रिकॉर्ड

नईदिल्ली 15 मई 2020। केरल में दक्षिणपश्चिम मॉनसून के आगाज में चार दिन की देरी होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार, दक्षिण राज्य में मॉनसून के पांच जून को पहुंचने का अनुमान है।

विभाग ने कहा, ‘इस साल केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत सामान्य तिथि की तुलना में थोड़ी देरी से होने की संभावना है। इस साल केरल में मानसून की शुरुआत 5 जून को होने की उम्मीद है।’ केरल में मानसून की शुरुआत देश में चार महीने की बारिश के मौसम की आधिकारिक शुरुआत है।

मानसून के केरल में कुछ दिन देरी से पहुंचने का अनुमान जरूर लगाया जा रहा है, लेकिन बताया जार हा है कि इस साल 100 फीसद बारिश का पूर्वानुमान है। ये कृषि अर्थव्यवस्था के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि देश में सालाना होने वाली बारिश का 75 फीसद इसी मानसून से होती है। ऐसे में रिकॉर्ड उत्‍पादन की संभावना है। लॉकडाउन के दौरान परेशानी का सामना कर रहे किसानों के लिए ये बेहद सुकून देने वाली खबर है।

साल 2015 में मौसम विभाग ने केरल में मानसून आने की तारीख 30 मई बतायी थी लेकिन असल में उस साल केरल में मानसून 5 जून को पहुंचा था। इसके बाद के सालों में मौसम विभाग की तारीखों और मानसून असल में आने की तारीखों में सिर्फ एक-दिन का ही अंतर रहा है। बीते पांच सालों में मानसून तीन बार देरी से केरल पहुंचा है।

बता दें पिछले साल मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि केरल में मानसून 6 जून तक आएगा। मानसून 2 दिनों बाद 8 जून को केरल पहुंच गया था। वहीं, 2018 में तो मौसम विभाग ने जिस तारीख 29 मई को मानसून के केरल पहुंचने का अनुमान लगाया था, उसकी दिन पहुंचा। इसलिए इस बार भी मानसून के 5 जून के आसपास पहुंचने की पूरी संभावना है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected By NPG.NEWS!!