comscore

लापता जवान मार्मिक VIDEO : अभिनंदन को पाकिस्तान से लाये थे, मेरे पति को भी ला दीजिये मोदी जी, अमित शाह जी….. अपहृत जवान की पत्नी का रोते-रोते बुरा हाल…. कर रही है पीएम और गृहमंत्री से मार्मिक अपील… उधर CRPF अफसर पहुंचे

रायपुर 5 अप्रैल 2021। …जिस तरह पाकिस्तान से अभिनंदन को लाये थे…मेरे पति को भी ला दीजिये मोदी जी…अमित शाह जी…मेरे पति अगर सुरक्षित हैं तो किसी भी तरह से उन्हें लेकर आईये …..ये गुहार है उस पत्नी की, जिसका पति नक्सलियों के कब्जे में है। बीजापुर मुठभेड़ के बाद नक्सलियों ने कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मनहास का अपहरण कर लिया है। खुद नक्सलियों ने भी फोन कर CRPF जवान राकेश्वर सिंह के कब्जे में होने की बात कही है। राकेश्वर का पूरा परिवार जम्मू-कश्मीर में रहता है, कल तक राकेश्वर सिंह मनहास के परिजनों को CRPF ने यही बताया था कि उनके पति लापता हैं, लेकिन देर शाम तक परिजनों को ये सूचना मिली कि उनकी पति शहीद हो गये।

शहादत की खबर पर जम्मू के लोवर बरनाई में रहने वाले सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास की पत्नी, मां और 5 साल की बेटी की रात रोते हुए गुजरी, लेकिन सुबह-सुबह ये खबरें आ गयी कि राकेश्वर सिंह जिंदा हैं, लेकिन वो नक्सलियों के कब्जे में हैं। पति की किडनैपिंग की खबर के बाद राकेश्वर के पूरे परिवार का रोते-रोते बुरा हाल है। राकेश्वर सिंह की 5 साल की बेटी भी पापा को याद करते-करते खूब रो रही है। 5 साल की बच्ची ने मार्मिक अपील की है कि “मेरे पापा जल्दी आ जाये”

उधर, पत्नी कभी हाथ जोड़ रही है, तो कभी कसम दिला रही है…उनके पति को जल्द से जल्द लाया जाये। पत्नी कह रही है कि अगर उनकी कुछ डिमांड है तो वो सरकार से करे, लेकिन उनके पति को आजाद कर दे। इधर परिवार से मिलने के लिए CRPF के अफसर भी जम्मू-कश्मीर स्थित घर पर पहुंचे, लेकिन सीआरपीएफ को इस बारे में ज्यादा मालूम नहीं है कि राकेश्वर किस हाल में है और कहां हैं। फिलहाल जवान का परिवार केंद्र और राज्य सरकार से अपील कर रहा है कि उनके राकेश्वर को आजाद कराया जाये।

Spread the love