बोले मंत्री कवासी लखमा – “सलवा जूडूम के दौरान हुई हिंसा की जाँच होनी चाहिए..हिंसा हुई थी जाँच भी हो”

रायपुर,2 नवंबर 2019। कोंटा से विधायक और प्रदेश सरकार में आबकारी और उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने सलवा जूडूम के दौरान हुई हिंसा की जाँच कराए जाने की बात कही है।
विदित हो कि, सलवा जूडूम के दौरान कवासी लखमा ने हिंसा की घटनाओं को तब उठाया था, और इसका खुला विरोध किया था। तब भी कवासी कोंटा से विधायक थे। कुटरु से शुरु हुआ आंदोलन भैरमगढ पहुँचने तक ग्रामीणों द्वारा स्व स्फुर्त संचालित था, और माओवादी ग्रामीणों के इस तेवर से बैकफ़ुट पर आ गए थे। लेकिन उसके बाद इस आंदोलन ने राजनैतिक रंग लिया।

सलवा जूडूम के दौरान हिंसा की कई घटनाएं घटीं, आरोप लगते रहे कि, मुख्य मार्ग से किनारे भीतर बसे गाँव के गाँव जलाए गए और बड़े पैमाने पर हत्याएँ हुई। सामाजिक संगठन इस मसले को सुप्रीम कोर्ट को तक लेकर गए और तत्कालीन भाजपा सरकार को इस सलवा जूडूम को कॉल ऑफ़ कराना पड़ा।
आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने NPG से कहा
“ हर घटना की जाँच होनी चाहिए.. सलवा जूडूम में हिंसा हुई थी, लोग मारे गए थे.. कौन दोषी है जाँच और कार्यवाही होनी ही चाहिए.. बस्तरिहा को भागना पड़ा, उन्हें वापस लाया जाना चाहिए”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.