मंत्री भगत ने संत गहिरा गुरू विश्वविद्यालय परिसर में किया पौधरोपण….

रायपुर, 7 अक्टूबर 2020। खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने 7 अक्टूबर को अंबिकापुर के भकुरा स्थित संत गहिरा गुरू विश्वविद्यालय परिसर स्थित संत गहिरा गुरू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिक एवं अधिकारियों के साथ पौधरोपण भी किया। कार्यक्रम के दौरान किसानों को धान पंजीयन के लिए सहायक दस्तावेज के रूप में बी-1 एवं खसरे का वितरण किया गया। परिसर में हरियाली बढ़ाने विश्वविद्यालय एवं वन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मंत्री भगत ने कहा कि संत गहिरा गुरू विश्वविद्यालय का यह परिसर देश के अन्य विश्वविद्यालयों से कई मामले में अनूठा है। परिसर की प्राकृतिक सुंदरता अनुपम है। विश्वविद्यालय परिसर में चल रहे निर्माण कार्याें में प्रगति लाकर ऐसे विकसित करें कि लोग यहां आने को हमेशा उत्सकुक हों। जिस प्रकार से मैनपाट की प्राकृतिक सुंदरता लोगों को आकर्षित करती है उसी प्रकार यह विश्वविद्यालय परिसर भी लोगों को आकर्षण का केन्द्र बने। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय के बनने से पूरे संभाग का एक अलग पहचान बनेगा और यहां से एक से बढ़कर एक होनहार छात्र तैयार होकर बाहर निकलेंगे।

मंत्री भगत ने कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में विभिन्न निर्माण कार्याें की धीमी प्रगति है, इसमें तेजी लाने की जरूरत है। विश्वविद्यालय के अधिकारी निर्माण से संबंधित विभागों से समन्वय कर महीने में कम से कम एक बैठक जरूर करें ताकि निर्माण कार्याें से संबंधित विभागीय समस्याओं से अवगत होकर उसकी उचित निराकरण की चर्चा को सके। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्याें में तेजी लाने के लिए जिस विभाग को समस्या हो यह बैठक में अपनी समस्या रखें। कार्यक्रम को लुण्डा विधायक डॉ. प्रीतम राम, छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष बालकृष्ण पाठक, छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण के अध्यक्ष शफी अहमद एवं खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरूप्रीत सिंह बाबरा तथा जिला पंचायत अध्यक्ष मुध सिंह एवं उपाध्यक्ष राकेश गुप्ता ने भी संबोधित किया।

संत गहिरा गुरू विश्वविद्यालय के कुलपति एवं सरगुजा कमिश्नर जिनेविवा किण्डो ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि विश्वविद्यालय परिसर की हरियाली बढ़ाने के लिए वन विभाग एवं विश्वविद्यालय द्वारा पौधारोपण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भकुरा में विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य 2018 से प्रारंभ हुआ। यहां 35 करोड़ की अनुमानित लागत से कुल 12 कार्यांे का निर्माण कार्य किया जाना है। वर्तमान 4 करोड़ के कार्य प्रगतिरत है। इस अवसर पर वनमण्डलाधिकारी, जनपद पंचायत अंबिकापुर की अध्यक्ष ननकी सिंह, जनपद सदस्य  विकास सिंह, सरपंच भकुरा कमला देवी, पार्षद दीपक मिश्रा सहित अन्य जनप्रतिनिधि और नागरिक उपस्थित थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.