सामाजिक जागरूकता के साथ शालाओ में बाटेंगे मध्यान्ह भोजन।संयुक्त शिक्षक/शिक्षाकर्मी संघ सूरजपुर की सकारात्मक पहल

 

सूरजपुर 30 मार्च 2020 प्रदेश के प्राथमिक माध्यमिक शालाओं में छात्र/छात्राओं के पालकों को 3 और 4 अप्रैल को शिक्षको द्वारा सूखा मध्यान्ह भोजन वितरित किया जाना है जिसका कई संगठन जहां अलग-अलग तर्क देकर विरोध करने में लगे हैं वहीं संयुक्त शिक्षाकर्मी संघ ने इसे समाज सेवा का एक और बेहतर मौका माना है और इसका स्वागत किया है इसके सुरक्षात्मक और सहयोगात्मक तरीके से वितरण हेतु संयुक्त शिक्षक/शिक्षाकर्मी संघ जिला सूरजपुर द्वारा शिक्षक व समाज हित मे दिशा- निर्देश/सुझाव भी जारी किए गए है।संघ जिला प्रवक्ता भुवनेश्वर सिंह ने संघ जिलाध्यक्ष सचिन त्रिपाठी के हवाले से बताया कि शिक्षको को विद्यालय में सूखा मध्यान्ह भोजन वितरण सहयोग हेतु संबंधित विद्यालय ग्राम के पंच /सरपंच/सचिव को आवश्यक दिशा निर्देश जारी करने के लिए सूरजपुर जिला कलेक्टर महोदय को संघीय पत्र से अवगत पश्चात मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत से संघ जिलाध्यक्ष ने दूरभाष उन्हें शिक्षकों की सकारत्मक मंशा से अवगत कराया जिस पर ceo जिलापंचायत ने तत्काल पहल करते हुवे सभी ग्रामपंचायतो को दिशा निर्देश जारी करने की बात कही है।
लॉक डाउन के समय शिक्षको को घर से विद्यालय तक निर्बाध रूप से पहुचने के लिए जिला शिक्षाअधिकारी से चर्चा उपरांत उन्होंने इस हेतु पुलिस प्रशासन को सूचित करने अथवा विभागीय परिचय पत्र जारी करने की बात कही है।
संयुक्त टीम सूरजपुर के पदाधिकारियों ने सूखा मध्यान्ह भोजन वितरित करने वाले समस्त शिक्षको से अपील की है कि सभी शिक्षक अनिवार्यतः मास्क लगा कर मध्यान्ह भोजन वितरित करें,वितरण स्थल पर हाथ धोने के लिए साबुन/पानी, सुविधानुसार सेनेटाइजर की व्यवस्था कर लेंवे,वितरण के समय 1 मीटर के शोशल डिस्टेंस हेतु आवश्यक सुविधाजनक उपाय जरूर करें,चावल व दाल के माप हेतु एक पात्र/ पईला का समुचित प्रबन्ध कर लें,अगर सम्भव हो तो छात्र संख्या के आधार पर पूर्व से उक्त माप के लिए 4/6 किलो चावल तथा 800 ग्राम/1 किलो 200 ग्राम दाल का पैकेट बना लें,वितरण सामग्री को टेबल पर रख वितरण हेतु रस्सी से आवश्यक दूरी बना लें और उपस्थित पालको को कोरेना वायरस के संभवित खतरे व इससे बचने के सुझाव अवश्य बताएं।

Spread the love