मैक्सवेल ने तोड़ी चुप्पी, टीम में अपने नए रोल पर उठाए सवाल….

नईदिल्ली 14 अक्टूबर 2020. टीम ने इस सीजन खेले 7 मैचों में से सिर्फ एक में जीत दर्ज की है, जबकि 6 मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा है। बढ़िया बल्लेबाजों के टीम में मौजूद होने के बावजूद भी पंजाब की बैटिंग इस साल टीम के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय रही है। टीम के कप्तान केएल राहुल और मयंक अग्रवाल को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज बल्ले से कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर सका है। किंग्स इलेवन पंजाब के लिए सबसे बड़ी परेशानी उनके स्टार खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल(Glenn Maxwell) की खराब फॉर्म रही है। मैक्सवेल ने अपनी खराब फॉर्म  की वजहऔर टीम में अपने नए रोल के बारे में  बताया है।

मैक्सेवल ने कहा, ‘जब आप पूरे साल में आईपीएल के लिए सिर्फ दो महीने के लिए साथ होते हैं, तो टीम में काफी टुकड़े होते हैं और वो बदलते रहते हैं। आप हमेशा बढ़िया टीम बैलेंस की तरफ देखते हैं। आपको जो टीम कॉम्बिनेशन टूर्नामेंट की शुरुआत होने से पहले सही लगते हैं, वो टूर्नामेंट के आगे बढ़ते रहने के साथ फिट नहीं बैठते हैं। मुझे लगता है कि हम उस टीम बैलेंस के काफी पास जा रहे हैं। मेरे आईपीएल करियर में कई तरह के अनुभव रहे हैं, जहां मैं लोगों की उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सका हूं, लेकिन मेरी तरफ से कोशिश में कभी कोई कमी नहीं रही है।’

मैक्सवेल किंग्स इलेवन पंजाब की टीम सबसे पहले साल 2014 में आए थे, इस साल मैक्सवेल ने बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए 552 रन बनाए थे और पंजाब की टीम को इकलौती बार फाइनल में पहुंचाया था। लेकिन मैक्सवेल के दिल के सबसे करीब साल 2017 रहा, जहां उन्होंने टीम की कप्तानी करी थी। मैक्सवेल ने इस साल को याद करते हुए कहा,’ 2014 में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बावजूद मेरे लिए सबसे अच्छा साल 2017 रहा था। उस सीजन मैंने कई मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीते और काफी गेंदबाजी भी की थी। मैं अपनी मैच विनिंग पारियों और मैच्योर पारियों को साथ में रख पाता हूं।’ उन्होंने साल 2017 के अपने प्रदर्शन को याद करते हुए यह बात कही, उस साल मैक्सवेल ने 173 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 310 रन बनाने के साथ महज 6.57 की इकॉनमी से  7 विकेट भी अपने नाम किए थे।

इस साल टीम में अपने रोल पर बात करते हुए मैक्सवेल ने कहा, ‘इस साल मुझे दूसरा रोल दिया गया है(नंबर पांच पर बल्लेबाजी) और मैं उस रोल को निभाने की कोशिश कर रहा हूं। मुझे लगता है कि मैंने अपनी तरफ से पूरी इस रोल को निभाने की पूरी कोशिश करी है जितनी की मैं कर सकता हूं। हमारे पास निकोलस पूरन हैं , जो नंबर चार पर ताबड़तो़ड़ बल्लेबाजी कर रहे हैं मेरा काम उनको स्ट्राइक पर रखना है और मैच को फिनिश करने में उनकी मदद करना है।’

Get real time updates directly on you device, subscribe now.