बड़ी कार्रवाईः राज्य सरकार ने एक्सप्रेस वे के कंसलटेंट का कांट्रेक्ट किया सस्पेंड, 60 लाख सिक्युरिटी डिपॉजिट भी रोका

NPG.NEWS
रायपुर, 12 फरवरी 2020। पीडब्लूडी ने राजधानी के एक्सप्रेस वे के निर्माण में लापरवाही बरतने पर बड़ा एक्शन लेते हुए उसके कंसलटेंट का कांट्रेक्ट निलंबित कर दिया है। पीडब्लूडी सिकरेट्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने इसके लिए आज आदेश जारी कर दिया।


रायपुर रेलवे स्टेशन से नया रायपुर तक 350 करोड़ के एक्सप्रेस वे प्रोजेक्ट के कंसलटेंट का काम भोपाल के लायन इंजीनियरिंग को मिला था। अफसरों का कहना है कि कंसलटेंट ने अपना काम ठीक से नहीं किया। इसका नतीजा हुआ कि प्रारंभ होने से पहले ही एक्सप्रेस वे में जगह-जगह दरारें पड़ गईं। ब्रिज के वॉल भी धसकने लगे। लिहाजा, जनजीवन को कोई नुकसान न पहुंचे, सरकार ने एहतियात के तौर पर एक्सप्रेस वे के आवागमन पर रोक लगा दी।
कुछ दिन पहले नए पीडब्लूडी सिकरेट्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने एक्सप्रेस वे का जायजा लिया और उसमें गंभीर खामियों के लिए अधिकारियों को फटकार लगाई थी। परदेशी ने अफसरों से पूछा था कि के वे कंसलटेंट और ठेकेदार के वर्क की मानिटरिंग्रग आखिर क्यों नहीं किए। इस पर अधिकारी कोई जवाब नहीं दे पाए। पीडब्लूडी सिकरेट्री ने एक्सप्रेस वे का न केवल नए सिरे से डिजाइन बनाने का निर्दश दिया बल्कि कहा था कि एनआईटी के एक्सपर्ट से उसे एप्रूव्ह कराएं। इसके बाद ही सुधार कार्य प्रारंभ किया जाए।
परदेशी ने आज पहली कार्रवाई करते हुए लायन इंजीनियरिंग कंसलटेंट का न केवल कंट्रेक्ट सस्पेंड कर दिया बल्कि करीब 60 लाख रुपए डिपॉजिट भी रोक लिया।
उधर, पीडब्लूडी के अधिकारियों के तेवर को देखते एक्सप्रेस वे बनाने वाले अहमदाबाद के ठेकेदार ने एक्सप्रेस को दुरुस्त करने के लिए तैयार हो गया है। एनआईटी से डिजाइन एप्रूव्ह हो जाने के बाद एक्सप्रेस वे का सुधार कार्य प्रारंभ हो जाएगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.