मध्यप्रदेश के युवा कल्याण खेल मंत्री जीतू पटवारी का बेहद तल्ख़ ट्विट .. सिंधिया परिवार को लेकर बेहद चुभने वाली बात लिखी.. नया बवाल तय

रायपुर,10 मार्च 2020। लगातार अपमान और अवहेलना और आख़िरकार राज्यसभा सीट की लड़ाई से क्षुब्ध श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भले क़रीब पंद्रह मिनट पहले अपने ट्विटर हैंडल पर इस्तीफ़ा ट्वीट किया हो, उन्हें लेकर CM कमलनाथ के कट्टर समर्थक और मौजुदा मध्यप्रदेश सरकार मे युवा कल्याण और खेल मंत्री का ट्विट नए तनाव का सबब बन रहा है।
मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीट कर सिंधिया राजघराने की आज़ादी आंदोलन में भुमिका से लेकर आज़ाद भारत में मध्यप्रदेश में संविद सरकार के समय की भुमिका का ज़िक्र किया है और बेहद तीखा तंज किया है।
उल्लेखनीय है कि 1857 में झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई को लेकर इतिहास में उल्लेख मिलता है कि ग्वालियर के सिंधिया राजघराने ने साथ नहीं दिया और रानी लक्ष्मीबाई की सूचना अंग्रेजों तक पहुँचा दी गई।इस मसले पर सिंधिया राजघराने की कटू आलोचना आज तक होती रही है।
बग़ैर कोई विशेषण दिए सिंधिया परिवार को लेकर लिखा गया ट्वीट साफ समझा देता है कि वो विशेषण जो कि लिखा नहीं गया दरअसल वो क्या विशेषण है।
मंत्री जीतू पटवारी ने लिखा –

“एक इतिहास बना था 1857 में झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की मौत से, फिर एक इतिहास बना था 1967 में संविद सरकार से और आज फिर एक इतिहास बन रहा है..।

– तीनों में यह कहा गया है कि हाँ हम है….”

Spread the love