नहीं रहे मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन, लखनऊ के मेदांता अस्पताल में ली आखिरी सांस

NPG.NEWS

भोपाल, 21 जुलाई 2020। मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का आज सुबह करीब साढ़े 5 बजे निधन हो गया। उनके बेटे आशुतोष टंडन ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मध्य प्रदेश के गवर्नर लालजी टंडन को 11 जून को सांस लेने में परेशानी, बुखार और पेशाब में दिक्‍कत के कारण लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लालजी टंडन की तबीयत दिन ब दिन बिगड़ती जा रही थी। इस वजह से उत्तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्‍य प्रदेश का अतिरिक्‍त कार्यभार दिया गया था। कल शाम अस्पताल की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन में उनकी हालत क्रिटिकल बताई गई थी। मेदांता अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर के मुताबिक, लालजी टंडन के किडनी फंक्शन में दिक्कत थी। लालजी टंडन का 13 जून को ऑपरेशन किया गया था। फिर हालत गंभीर होने पर उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया। उनकी हालत नहीं संभली और आज सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली। 12 अप्रैल 1935 को जन्मे लालजी टंडन लखनऊ से सांसद रहे हैं। साथ ही यूपी की राजनीति में सक्रिय रहने वाले टंडन भाजपा सरकार में कई बार मंत्री भी रहे। अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी लालजी टंडन ने वाजपेयी जी के चुनाव क्षेत्र लखनऊ की कमान संभाली थी। 2004 में वे तब विवादों में आए, जब लोकसभा के चुनाव की पूर्व संध्या पर अपने जन्मदिन के मौके पर वे साड़ियां बांट रहे थे और भगदड़ में 21 महिलाओं की मौत हो गई थी। 21 अगस्त 2018 को उन्हें पहली बार बिहार का राज्यपाल बनाया गया। फिर 20 जुलाई 2019 को मध्यप्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया था।

Spread the love